Menstrual Hygiene Day : असम में पीरियड्स से जुड़ा निभाया जाता है यह अनोखा रिवाज, जानें …

शेयर करे

कोलकाता : यह कहना गलत नहीं होगा कि 21वीं सदी में जीने के बाद भी आज हम पीरियड्स को टैबू की तरह देखते हैं। ज्यादातर लोगों को इसके बारे में पता होता है, लेकिन इस बारे में बात करने से हिचकिचाते हैं। पीरियड्स केवल एक शब्द नहीं महिलाओं के लिए ऐसा पड़ाव है, जो उनके जीवन में कई तरह के बदलाव लेकर आता है। इससे जुड़े कई रिवाज भी हैं, जिन्हें लोग आज तक निभाते हैं। पूर्वोत्तर भारत में बसा असम एक ऐसा राज्य है, जहां इसे त्योहार के रूप में मनाया जाता है। चलिए विस्तार से जानते हैं इस रिवाज के बारे में।
तुलोनिया बिया त्योहार
असम में पीरियड्स से जुड़ा एक रिवाज निभाया जाता है, जिससे ‘तुलोनिया बिया’ कहा जाता है। इस राज्य में जब लड़की को पहली बार पीरियड्स होते हैं तो यह त्योहार बड़ी खुशी से मनाया जाता है।
सात दिन तक रखा जाता है अलग

  • तुलोनिया बिया में लड़की को सात दिन तक अलग करके रखा जाता है। उसे एक कमरे में बंद कर दिया जाता है, जहां उसे किसी से भी मिलने की मनाही होती है। खासतौर पर पुरुषों से।
  • इस दौरान लड़की को केवल फल ही खाने दिया जाता है। वह दिन में केवल एक बार ही खाना खाती है, वह भी उबला हुआ।
  • जब चार दिन पूरे हो जाते हैं, तब लड़की को हल्दी के पानी से नहलाया जाता है। जहां लड़की को नहलाया जाता है, वहां पर केले का पेड़ लगाया जाता है। वहीं अन्य समुदायों में लड़की की केले के पेड़ से शादी भी करवाई जाती है।
  • चौथे दिन के बाद लड़की के घर में कुछ महिलाएं आती हैं, जो उसे पीरियड्स से जुड़े सामाजिक नियमों के बारे में बताती है। यह सब बातें ‘बिया नाम’ गाना गाकर बताई जाती हैं।

शादी की तरह होता है समारोह

असम में भी जब लड़की को पहली बार पीरियड्स होते हैं तो इस बात की खुशी मनाई जाती है। सभी रिश्तेदारों को बुलायाा जाता है। यहां तक की कई लोग कार्ड भी छपवाते हैं। हॉल बुक किए जाते हैं। इसके लिए लड़की को अच्छे से सजाया भी जाता है। उसे साड़ी पहनाई जाती है और मेकअप भी किया जाता है।

ये हैं पीरियड्स से जुड़े रिवाज

  • तमिलनाडु में ‘मंजल निरातु विज़ा’ त्योहार मनाया जाता है। यह त्योहार पीरियड से संबंधित है।
  • नेपाल में भी चौपाड़ी प्रथा निभाई जाती है। इस दौरान महिलाओं को अलग करके एक बेड़े में रखा जाता है। लेकिन सरकार द्वारा इस प्रथा पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।
  • ओडिशा में पीरियड्स के इस त्योहार को राजा प्रभा कहा जाता है।केवल भारत में ही नहीं विदेश में भी पीरियड्स से संबंधित रिवाज हैं। जैसे जापान मेंलड़की की मां सेकीहान नामक ट्रेडिशनल डिश बनाती है।
  • इजराइल में लड़की को पीरियड्स होने पर शहद चटाया जाता है।

 

 

Visited 185 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

कोलकाता: डलहौसी इलाके के गर्स्टिन प्लेस स्थित 50 साल से अधिक पुराने मकान में शनिवार तड़के भयानक आग लग गयी।
नई दिल्ली: ICC मेन्स T20 विश्व कप 2024 में सुपर 8 में 23 जून (रविवार) को अफगानिस्तान ने बड़ा उलटफेर
पुरी : हर साल ज्येष्ठ माह की पूर्णिमा के दिन भगवान जगन्नाथ के साथ ही बलभद्र जी, सुभद्राजी और सूदर्शन
मेयर ने कहा, अवैध रूफटॉप रेस्तरां को किया जायेगा ध्वस्त, शुरू हुआ सर्वे कोलकाता : कोलकाता नगर निगम ने छत
12 साल की शिवानी हावड़ा के मुसलमानपाड़ा की रहनेवाली है बेंटरा थाने में दर्ज की गयी शिकायत, परिवार के साथ
कोलकाता : कंचनजंघा एक्सप्रेस हादसे का असर अब तक रेल सेवाओं पर देखने को मिल रहा है। एक और जहां
कोलकाता : ब्लू लाइन पर रात्रि सेवाओं का समय 24 जून से 20 मिनट आगे बढ़ाया जा रहा है। सोमवार
कोलकाता : राज्य सरकार के परिवहन विभाग की ओर से स्कूल बसों और पूल कार को लेकर एडवायजरी जारी की
कोलकाता: शहर में अगले सोमवार से आखिरी मेट्रो रात 11:00 बजे की बजाय रात 10:40 बजे चलेगी। शाम की सेवा
कोलकाता: बीते दो दिनों से दक्षिण बंगाल के लोगों ने तापमान गिरने से राहत की सांस ली है। बता दें
हावड़ा : कल यानी शनिवार को हावड़ा में पानी नहीं आयेगा। इसे लेकर हावड़ा नगर निगम की ओर से विज्ञप्ति
कोलकाता : ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन आसमान में चांद का अद्भुत नजारा दिखेगा। इस नजारे को स्ट्रॉबेरी मून कहा जाता
ऊपर