बिहार बोर्ड 10वीं के नतीजे जारी, पूर्णिया के शिवांकर ने किया टॉप

पटना: बिहार बोर्ड 10वीं के परिणाम को आज बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड(BSEB) की ओर से जारी कर दिया गया है। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनन्द किशोर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए बिहार बोर्ड 10वीं के परिणाम जारी किए। बिहार बोर्ड 10वीं की परीक्षा में कुल 82.91 प्रतिशत छात्र-छात्रएं उत्तीर्ण हुए हैं। इस साल बिहार बोर्ड 10वीं की परीक्षा में शिवांकर कुमार ने 500 में से 489 अंकों के साथ टॉप किया है।

इस साल पूर्णिया के शिवांकर कुमार ने 500 में से 489 अंक हासिल करके बिहार बोर्ड कक्षा 10 की परीक्षा में टॉप किया है। वहीं, इसके बाद आदर्श कुमार 488 अंक हासिल कर दूसरे स्थान पर रहे और 486 अंक के साथ तीसरे स्थान पर आदित्य कुमार, सुमन कुमार पूर्वे, पलक कुमारी और साजिया परवीन रही।

कितने छात्र-छात्राओं को मिला फर्स्ट डिवीजन रैंक 

BSEB परीक्षा में कुल 16,64,252 छात्र-छात्राएं (8,58,785 लड़कियां और 8,05,467 लड़के) शामिल हुए थे। इनमें से 13,79,842 छात्र-छात्राओं(6,99,549 लड़कियां और 6,80,293 लड़के) ने सफलता हासिल की है। इस वर्ष कुल 4,52,302 विद्यार्थियों को प्रथम श्रेणी, 524965 को द्वितीय तथा 380732 विद्यार्थियों को तृतीय श्रेणी प्राप्त हुई। वहीं अगर इस साल पास प्रतिशत की बात की जाए तो इस वर्ष बीएसईबी कक्षा 10 परीक्षा का कुल उत्तीर्ण प्रतिशत 82.91 परसेंट रहा।

 

SMS के जरिए कैसे चेक करें परिणाम 

बिहार बोर्ड 10वीं परिणाम 2024 को एसएमएस के जरिए चेक करने के लिए उम्मीदवार नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • निम्न संदेश टाइप करें: BIHAR10 [आपका रोल नंबर]।
  • इस संदेश को 56263 पर भेजें।
  • बिहार बोर्ड 10वीं परिणाम 2024 आपको अपने मोबाइल फोन पर एक एसएमएस के रूप में प्राप्त होगा।
  • भविष्य के संदर्भ के लिए 10वीं परिणाम 2024 बिहार बोर्ड का स्क्रीनशॉट सहेजें और सुरक्षित करें।

 

Visited 25 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

सिर्फ गर्दन का व्यायाम हमें इतने रोगों से रख सकता है दूर

कोलकाता : रीढ़ की हड्डी को कशेरूक दंड या मेरूदंड कहा जाता है। इससे समस्त कंकाल को सहारा मिलता है। रीढ़ की हड्डी या मेरूदंड आगे पढ़ें »

गुरुवार के दिन विष्णु भगवान की करें पूजा, इन 3 बातों को रखें ध्यान

नई दिल्ली: गुरुवार के दिन का हिंदूओं में विशेष महत्व है। गुरुवार के दिन भगवान विष्णु और देवताओं के गुरु बृहस्पति देव की पूजा होती आगे पढ़ें »

ऊपर