बदलते मौसम में शरीर में एनर्जी की लगती है कमी ? इन बातों का रखें ध्यान

कोलकाता:  दिसंबर का महिना आ गया है। धीरे-धीरे ठंड भी बढ़ रही है। ऐसे समय में बदलते मौसम के कारण शरीर में एनर्जी की कमी की वजह से थकान महसूस होने लगती है। जिससे लोगों के घर में, ऑफिस में कार्यक्षमता प्रभावित हो रही है। इस समस्या का असर लोगों के जीवन पर काफी बड़ा असर डाल रहा है। ऐसे में कई बार इंसान निगेटिविटी से घिर जाता है।

आपको बताते हैं आलस दूर करने का तरीका-

  • अपने लाइफस्टाइल में बदलाव करके हम सुस्ती की समस्या से बच सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले व्यक्ति को अपनी नींद के शेड्यूल को सही करना होगा। एक इंसान के लिए औसतन 7-8 घंटे की नींद जरूरी होती है। साथ ही नींद पूरी करके सुबह जल्दी उठना भी फायदेमंद होता है।
  • नींद के बाद समय पर और संतुलित खाना भी जरूरी है। एक भी वक्त का खाना छोड़ना नहीं चाहिए। साथ ही अपनी डाइट में लिक्विड का भरपूर इस्तेमाल करें और पानी भी खूब पीएं। जंक फूड से दूरी बनाकर रखें। शरीर में पानी की कमी के चलते भी थकान हो जाती है। ऐसे में इस बात का ध्यान रखें और पर्याप्त मात्रा में पानी पीते रहें।
  • नियमित रूप से एक्सरसाइज भी आपके शरीर से सुस्ती दूर करेगी। दरअसल, एक्सरसाइज से इंसानी बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर बना रहता है, जिससे इंसानी शरीर में एनर्जी रहती है और वह जल्दी थकान महसूस नहीं करता।
  • अगर इन सब बातों का ध्यान रखने के बाद भी आपके शरीर से सुस्ती नहीं जा रही है तो आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।
  • अगर किसी व्यक्ति के शरीर में थायराइड हार्मोन असंतुलित है तो भी थकान, जोड़ो का दर्द, मांसपेशियों में दर्द, वजन अचानक से घटना या बढ़ना जैसी समस्याएं हो जाती हैं। इसलिए थकान की समस्या हो और उक्त कोई समस्या महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर से मिलकर थायराइड की जांच कराएं।

 

Visited 27 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Loksabha Elections 2024 : …तो क्या आसनसोल में पवन सिंह और अक्षरा सिंह भाजपा की …

- कल जारी हो सकती है दूसरी सूची कोलकाता : पवन सिंह द्वारा आसनसोल के भाजपा उम्मीदवार के तौर पर नाम वापस लिये जाने के बाद आगे पढ़ें »

NIA Raid In Bengaluru: लश्कर मॉड्यूल से जुडे़ तार, 7 राज्यों में NIA की छापेमारी

बेंगलुरु: बताया जा रहा है कि जिन लोगों ने कैफे में ब्लास्ट को अंजाम दिया है, उनके तार लश्कर मॉड्यूल से जुड़े हुए हैं। कर्नाटक आगे पढ़ें »

ऊपर
error: Content is protected !!