Kacchey Doodh Ke Totke : कच्चे दूध के चमत्कारी टोटके बना देंगे …

कोलकाता : हम सभी जानते हैं कि दूध सेहत के लिए बहुत गुणकारी होता है। इसका उपयोग हेल्थ के आलावा सौंदर्य प्रसाधनों में भी किया जाता है, लेकिन कच्चे दूध का इस्तेमाल पूजा-पाठ और तंत्र साधनाओं में बहुत अधिक ज्यादा किया जाता है। कई बार हमारी कुंड़ली में ग्रहों की स्थिति अशुभ होती है या फिर कमजोर स्थिति मे होते हैं जिसके कारण हमें कई सारी परेशानियों का सामना जीवन मे करना पड़ता है। इन परेशानियों से बचने के लिए आज हम आपके लिए लेकर आए हैं दूध के चमत्कारी टोटके जो आपको हर समस्या से निजात दिला देंगे।
धर्म शास्त्रों के मुताबिक हर एक टोने-टोटके में कच्चा दूध इस्तेमाल किया जाता है। कुछ जगह दूध की खीर बनाकर भी भगवान को चढ़ाई जाती है। चंद्रमा की पूजा करते समय दूध ही चढ़ाया जाता है। दूध में तिल मिलाकर भगवान शुव को चढ़ाने से संकट टल जाते हैं तो वहीं सांप को दूध पिलाने से राहू का प्रभाव कम होता है।
दूध माना जाता है चंद्रमा का कारक
ज्योतिष शास्त्र में दूध को चंद्रमा का कारक ग्रह माना जाता है। दरअसल, शास्त्रों में दूध को चंद्रमा और शांति का प्रतीक माना गया है। इसी के साथ ही दूध के ऐसे टोने-टोटकों के बारे में बताया गया है जिन को मानने से हम कई सारी समस्याओं से आसानी से बच सकते हैं, तो आइए जानते हैं आज उनके बारे में।
टोने-टोटके में इस्तेमाल होता है कच्चा दूध
दूध को पवित्रता के साथ-साथ बहुत से शुभ और अशुभ कार्यों में भी काम लिया जाता है। दूध सिर्फ खाने पीने के लिए ही काम नहीं आता। दूध पूजा अर्चना में जितना काम आता है उतना ही तंत्र-मंत्र शक्ति में भी काम आता हैं। पूजा और टोने-टोटके में कच्चा दूध काम लिया जाता है।
रविवार रात को सिरहाने रखें दूध
रविवार रात को दूध का गिलास अपने सिर के पास रखकर सो जाएं पर इस बात का ध्यान रखें कि ऐसा करते समय दूध जमीन पर नहीं गिरे, फिर अगले दिन सुबह उठकर बिना कुछ बोले इस दूध को बबूल के पेड़ की जड़ में डाल दें। ऐसा आपको हर रविवार को करना है। हर रविवार को करने से आपके पास आर्थिक वृद्धि होने लगेगी।
बुरे सपने आते हैं तो करें ये उपाय
अगर आपको अपने परिवार के लोगों के बारे में बुरे सपने और ख्याल आ रहे हैं तो इसके लिए आपको करना है कि शुक्ल पक्ष के पहले दूध से चावल को धोकर उस दूध को नदी या झरने में बहा दें। आपको लगातार सात मंगलवार तक ऐसा करना है। आप देखना ऐसा करने से आपको बुरे ख्याल आने बंद हो जाएंगे।
अगर होते हैं बार-बार दुर्घटना का शिकार
अगर आपके साथ या आपके परिवार के साथ बार-बार दुर्घटनाएं होती हैं या बार-बार ऐसी दुर्घटना से बार-बार सामना होता हो। ऐसी स्थिति में शुक्ल पक्ष में यानि अमावस्या के तुरन्त बाद जो भी पहला मंगलवार इस उपाय को करना है। मंगलवार को 400 ग्राम दूध से चावल को धोकर के किसी नदी या झरने में आप प्रवाहित कर दें। ऐसा लगातार सात मंगलवार तक करे। आपके साथ दुर्घटना होना बंद हो जाएंगी।
शिवलिंग पर चढ़ाएं कच्चा दूध
कुंडली में ग्रहों की कुदृष्टि होने की स्थिति में सोमवार के दिन जल्दी उठकर स्नान करें और शिवलिंग पर कच्चा दूध चढ़ाएं। 7 सोमवार तक ऐसा करें और देखें की आपकी मनोकामनाएं पूरी हो जाएंगी।
दूध को यदि सांप को पिलाया जाए तो राहु का उपाय होता है। दूध में तिल मिलाकर भगवान शिव को अर्पित करने से समस्त ग्रहों के अनिष्टकारी प्रभाव कट जाते हैं। प्राचीन तांत्रिक ग्रथों में ऐसे ही दूध से किए गए कुछ चमत्कारी टोटकों का वर्णन मिलता है तो बहुत ही असरदार और चमत्कारी हैं।

Visited 254 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata Metro Timing : आज से रात 11 बजे के बाद भी चलेगी मेट्रो !

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि मेट्रो रेलवे आज यानी 24 मई से प्रायोगिक तौर पर रात में ब्लू लाइन आगे पढ़ें »

Weather Update: बंगाल में भीषण गर्मी के बीच आज 3 जिलों में बदलेगा मौसम, कहां-कहां होगी बारिश ?

कोलकाता: बंगाल में लोगों को लू और गर्म हवा का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग की मानें तो गर्मी की लहर अभी कम आगे पढ़ें »

CM ममता के खिलाफ सड़क पर उतरे साधु… 

कोलकाता मेट्रो: यात्रियों के लिए बड़ा तोहफा…

कोलकाता के इन इलाकों में 2 महीने तक लागू रहेगा धारा 144, पुलिस कमिश्नर का ऐलान

Cyclone Remal Update: कोलकाता में दो दिनों तक होगी भारी बारिश, दो जिलों में जारी रेड अलर्ट

अब Flipkart में होगी Google की हिस्सेदारी….

आरक्षण पर कांग्रेस से मोदी का तीखा सवाल, ‘ब्राह्मण-बनिया परिवार में गरीब नहीं होते क्या?

OBC प्रमाणपत्रों को रद्द नहीं होने देंगे, ऊपरी कोर्ट में जाएंगे : ममता

हल्की गिरावट के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, Sensex ऑलटाइम हाई से लुढ़का

पैर से ‌लिखकर छात्र ने दी थी 12वीं की परीक्षा, आए इतने % अंक…

वोटिंग डाटा सार्वजनिक करने की मांग कर रहे याचिकाकर्ता को सुप्रीम कोर्ट से झटका

ऊपर