Esplanade में यात्रियों की भीड़ को देखते हुए कोलकाता मेट्रो करेगा ये काम..

कोलकाता : ईस्ट-वेस्ट और नार्थ-साउथ कोरिडोर में यात्रा करने वाले यात्रियों की भीड़ की सुविधा के लिए, अधिकारियों ने पुराने और नए एस्प्लेनेड स्टेशनों को जोड़ने वाले सबवे के प्रवेश द्वार को चौड़ा करने का निर्णय लिया है। हर शाम 9 फीट के प्रवेश द्वार पर यात्रियों के लिए बाधा उत्पन्न हो जाती है। ईस्ट-वेस्ट मेट्रो की हावड़ा मैदान-एस्प्लेनेड लाइन से यात्रा करने और इंटरफ़ेस के माध्यम से न्यू गरिया-दक्षिणेश्वर लाइन का लाभ उठाने के लिए पूरे दिन वॉकवे का उपयोग करने वाले कई लोगों के लिए जगह बनाने के लिए इसे अब दोगुना कर दिया जाएगा। अगले सप्ताह काम शुरू हो जाएगा। गत मंगलवार से ईस्ट-वेस्ट मेट्रो एस्प्लेनेड स्टेशन की ओर से संकीर्ण प्रवेश द्वार सहित पूरे वॉकवे को अलग-अलग प्रवेश और निकास लेन में विभाजित किया गया था। मेट्रो यात्रियों की भीड़ से निपटने के लिए नार्थ-साउथ और ईस्ट-वेस्ट लाइनों को जोड़ने वाले एस्प्लेनेड सबवे को चौड़ा करेगी। एक अधिकारी ने कहा कि भीड़ के समय, विशेष रूप से शाम के समय, सैकड़ों लोग एक प्रवेश द्वार के माध्यम से एक एस्प्लेनेड स्टेशन से दूसरे तक पहुंचते हैं, जो केवल 9 फीट (3 मीटर) चौड़ा है। विशेष रूप से दिव्यांग लोगों के लिए एक रैंप अधिकांश चौड़ाई को कवर करता है, जिससे यात्रियों के लिए मेट्रो में प्रवेश करने या बाहर निकलने के लिए केवल 3 फीट की जगह बचती है। हावड़ा मैदान-एस्प्लेनेड लाइन की पीक-घंटे का अंतर 12 मिनट है। 6 कोच वाला बीईएमएल-निर्मित रेक केवल 2000 यात्रियों को ले जा सकता है। सेवाओं में लंबे अंतराल के कारण रेक भरे हुए हैं। एक अधिकारी ने कहा कि इन यात्रियों का एक बड़ा हिस्सा हर 12 मिनट के बाद नार्थ-साउथ मेट्रो की ओर जाता है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ हफ्तों में हमें कई बार भगदड़ जैसी स्थिति का सामना करना पड़ा। एक इंजीनियर ने कहा कि फिलहाल, अलग-अलग प्रवेश और निकास लेन ने यात्री भीड़ को थोड़ा सुव्यवस्थित कर दिया है। प्रवेश बाधा को कम करने के लिए अधिक जगह की आवश्यकता है। अतिरिक्त जगह मुख्य रूप से सबवे के प्रवेश द्वार के ठीक बगल में पूर्व की ओर जाने वाली टनल के 3×3 मीटर शाफ्ट से बनाई जाएगी। इसका काम केएमआरसीएल की ओर से किया जायेगा।

एस्प्लेनेड मेट्रो स्टेशन पर इंस्टॉल किये गये क्यू मैनेजर्स
बता दें क‌ि यात्रियों की इंटरचेंजिंग सुविधा ने कोलकाता की मेट्रो प्रणाली में एक नई अनूठी सुविधा जोड़ दी है। इस इंटरचेंजिंग को आसान और अधिक लचीला बनाने के लिए, ओल्ड एस्प्लेनेड स्टेशन (ब्लू लाइन) और न्यू एस्प्लेनेड स्टेशन (ग्रीन लाइन) के बीच यात्रियों के निर्बाध इंटरचेंज को सुनिश्चित करने के लिए एस्प्लेनेड मेट्रो स्टेशन पर क्यू मैनेजर्स इंस्टॉल किए गए हैं। क्यू मैनेजर का उपयोग बड़ी संख्या में भीड़ को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने और जहां आवश्यक हो, उनके यूनिडायरेक्शनल प्रवाह को सुनिश्चित करने के लिए किया जा रहा है। इससे यात्री सुचारू ढंग से आवाजाही कर सकते हैं। कई बैनरों और स्टिकर के साथ-साथ यात्रियों को उनके उपयुक्त इंटर/एक्जीट प्वाइंट में आवागमन के लिए लाभ हुआ है।

Visited 12,878 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata Metro Timing : आज से रात 11 बजे के बाद भी चलेगी मेट्रो !

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि मेट्रो रेलवे आज यानी 24 मई से प्रायोगिक तौर पर रात में ब्लू लाइन आगे पढ़ें »

Weather Update: बंगाल में भीषण गर्मी के बीच आज 3 जिलों में बदलेगा मौसम, कहां-कहां होगी बारिश ?

कोलकाता: बंगाल में लोगों को लू और गर्म हवा का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग की मानें तो गर्मी की लहर अभी कम आगे पढ़ें »

KKR की जीत पर शाहरूख ने दी बधाई.. कहा ‘मेरे लड़के, मेरी टीम, मेरे चैम्पियंस, मेरे केकेआर के स्टार…

Singapore Open 2024: पीवी सिंधु ने डेनमार्क की खिलाड़ी को हराया

ममता ने रेमल से क्षतिग्रस्त दक्षिण 24 परगना का किया दौरा…

बिहार में भीषण गर्मी का प्रकोप, 8 जून तक बंद रहेंगे सभी स्कूल

इंडिगो ने दिया महिला यात्रियों को तोहफा…

मिसाइल RudraM-II का सफल परीक्षण, पलक झपकते ही दुश्मनों को करेगा तबाह

कोलकाता के बेटे ने न्यूयॉर्क में किया नाम रौशन…

महिला पत्रकार ने टीवी चैनल के निर्देशक के खिलाफ लगाया छेड़छाड़ का आरोप….

PM मोदी पर CM ममता बनर्जी का तंज, ‘जो भगवान है उसे राजनीति में नहीं आना चाहिए’

भाजपा को सर्वाधिक सफलता बंगाल में मिलेगी : PM मोदी

ऊपर