विश्व बाल श्रम निषेध दिवस: आखिर क्या है इसका महत्त्व और इतिहास??

शेयर करे

नई दिल्ली: हर साल 12 जून को विश्व बाल श्रम निषेध दिवस मनाया के रूप में मनाया जाता है। बता दें कि इसका उद्देश्य बाल श्रम को खत्म करने के लिए बढ़ते वैश्विक प्रयास को सक्रिय करना है। संयुक्त राष्ट्र का मानना ​​है कि मूल कारणों को संबोधित करके और सामाजिक न्याय और बाल श्रम के बीच संबंध को समझकर इसे खत्म किया जा सकता है। बच्चों को अच्छे माहौल में रहने उनके स्वास्थ्य और विकास को बढ़ावा देने के लिए यह दिन मनाया जाता है। बच्चों को जीवित रहने के लिए शारीरिक श्रम करने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए, क्योंकि इससे उन्हें शारीरिक और भावनात्मक नुकसान होता है। दुर्भाग्य से, कई गरीब देशों में बाल श्रम और दुर्व्यवहार व्यापक रूप से फैले हुए हैं।

इसे मनाने को उद्देश्य…

बता दें क‌ि विश्व बाल श्रम निषेध दिवस हर साल 12 जून को मनाया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य बाल श्रम के खिलाफ वैश्विक आंदोलन को आगे बढ़ाना है। संयुक्त राष्ट्र बाल श्रम के मूल कारणों को संबोधित करने और सामाजिक न्याय और बाल श्रम उन्मूलन के बीच संबंध को समझने के महत्व पर जोर देता है।

कैसे हुई इस दिन की शुरूआत?
बता दें कि ऐतिहासिक पृष्ठभूमि और महत्व अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन ILO ने 12 जून, 2002 को अपने जिनेवा मुख्यालय में विश्व बाल श्रम निषेध दिवस की शुरुआत की। यह दिन बाल श्रम को समाप्त करने के वैश्विक आह्वान को बढ़ावा देता है। बताते चलें क‌ि 1987 से, भारत की केंद्र सरकार बाल रोजगार पर एक राष्ट्रीय नीति लागू कर रही है। यह नीति उन बच्चों और किशोरों के पुनर्वास पर केंद्रित है जिन्हें रोजगार में धकेला गया है और प्रभावित परिवारों की आर्थिक संभावनाओं का समर्थन करके गरीबी के मूल कारणों को संबोधित करती है।
Visited 32 times, 1 visit(s) today
1
0

Leave a Reply

मुख्य समाचार

नई दिल्ली: हर साल 21 जून को इंटरनेशनल योग दिवस मनाते हैं। हमारे ऋषियों-मुनियों द्वारा योग को विकसित किया गया
कोलकाता : मेट्रो रेलवे द्वारा चलाये जा रहे स्पेशल नाइट मेट्रो के समय को 20 मिनट कम कर दिया गया
कोलकाता: पश्चिम बंगाल के न्यू जलपाईगुड़ी के पास 17 जून को हुए ट्रेन हादसे ने देशवासियों को झकझोर कर रख
कोलकाता : अगले दो से तीन घंटों में कोलकाता में हल्की बारिश होने वाली है। शहर के अधिक हिस्सों में
पटना: नीट पेपर लीक मामला पूरे देशभर में छाया हुआ है। बिहार के डिप्टी सीएम विजय सिन्हा ने बड़ा दावा
कोलकाता : मानसून दस्तक देने वाला है। इससे पहले इसे लेकर तैयारियों को पूरा करने का निर्देश शहरी विकास तथा
कोलकाता: मौसम विभाग के पूर्वानुमान पर लोगों का भरोसा खत्म हो गया है। पिछले कुछ दिनों से बारिश का पूर्वानुमान
पटना: नीतीश सरकार को पटना हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है। बिहार में आरक्षण का दायरा बढ़ाए जाने के नीतीश
नोएडा: देश के उत्तरी हिस्सों में भीषण गर्मी पड़ रही है। नोएडा में अलग-अलग जगहों पर बीते मंगलवार को 14
कोलकाता: बंगाल में लोकसभा चुनाव के नतीजे वाले दिन डेबरा में पुलिस कस्टडी में BJP कार्यकर्ता की मौत हुई थी।
कोलकाता: दक्षिण बंगाल के अधिकांश हिस्सों में आज सुबह से ही आसमान में बादल मंडरा रहा है। धूप नहीं होने
नई दिल्ली: NEET परीक्षा को लेकर दायर कई याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान काउंसलिंग रोकने और तत्काल
ऊपर