G-20: राष्ट्रपति जो बाइडेन की दिल्ली में होगी मेगा एंट्री, सीक्रेट फोर्स रखेगी खास निगरानी

शेयर करे

नई दिल्ली: जी-20 शिखर सम्मेलन के लिए शुक्रवार (08 सितंबर) को कई विदेशी मेहमान भारत पहुंचेंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन आज शाम को नई दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचेंगे। एयरपोर्ट पर उनका स्वागत करने के लिए केंद्रीय मंत्री जनरल वीके मौजूद रहेंगे। शिखर सम्मेलन को लेकर दिल्ली में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे और जवानों की तैनाती बढ़ा दी गई है। दफ्तरों में 3 दिनों के लिए वर्क फ्रॉम होम की घोषणा कर दी गई है। नेताओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी और उनके स्वागत में कोई कमी न हो इसके लिए भारत सरकार खास ध्यान रख रही है।

राष्ट्रपति की इतनी कड़ी होती है सुरक्षा

दुनिया के सबसे ताकतवार देश कहे जाने वाले अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन एयरफोर्स वन के विमान से नई दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंचेंगे। इसके साथ बैकअप प्लेन के लिए दूसरा विमान भी उपलब्ध होगा। जिसे इमरजेंसी स्थिति के लिए रखा जाएगा। एयरपोर्ट पर उतरने के बाद राष्ट्रपति बाइडेन कड़ी सुरक्षा के बीच बीस्ट गाड़ी में यात्रा करेंगे। उनकी सुरक्षा के लिए 50 गाड़ियों का सुरक्षा घेरा रहेगा। सुरक्षा में अमेरिका की इंटेलिजेंस और सिक्योरिटी सर्विस फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन के साथ ही फॉरेन इंटेलिजेंस सर्विस यानी CIA कमांडो की तैनाती रहेगी। वह जिस गाड़ी में यात्रा करेंगे वो इतनी मजबूत है कि उसपर किसी भी हमले का असर नहीं होगा।

जानकारी के अनुसार यह कार केमिकल, न्यूक्लियर अटैक भी बेअसर करने में सक्षम है। कार में 8 इंच मोटे दरवाजे, पैनिक बटन, अलग से ऑक्सीजन सप्लाई, कार में राष्ट्रपति का मैचिंग ब्लड और सैटेलाइट फोन रहता है, जो हर वक्त पेंटागन से कनेक्ट रहता है। इसके अलावा कार के टायरों में स्पेशल स्टील रिम्स होता है। इसके टायर पंचर नहीं होते और फ्यूल टैंक में स्पेशल फोम होता है।

एयरफोर्स-वन विमान की खासियत

व्हाइट हाउस की वेबसाइट के अनुसार एयरफोर्स-वन को स्पेशल तरीके से बनाया जाता है। इस विमान को मिनी पेंटागन के नाम से भी जाना जाता है। राष्ट्रपति बाइडेन जिस विमान से सफर करते हैं वह बोइंग 747-200B सीरीज का प्लेन है। विमान हर तरह के हमलों से बचने में सक्षम रहता है। इस प्लेन में अस्पताल और ऑफिस के अलावा सुइट, किचन समेत कई अत्याधुनिक सुविधाएं मौजूद होते हैं। प्लेन में तीन फ्लोर होते हैं, जिनका एरिया करीब 4 हजार वर्गफीट होता है। इसमें करीब 100 लोग सफर कर सकते हैं। विमान में एक हिस्सा अस्पताल के रूप में होता है, जिसमें डॉक्टरों की टीम रहती है। प्लेन में राष्ट्रपति का एक ऑफिस होता है। उनके आराम करने के लिए सुइट भी होता है जबकि अन्य लोगों के लिए भी कमरे हैं। इस प्लेन में जमीन पर उतरे बिना ही फ्यूल भर सकते हैं और यह एक बार में ही बिना रूके 12 हजार किमी तक का सफर तय कर सकता है।

Visited 114 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

कोलकाता : विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी को चोर-चोर का नारा लगाने पर शुभेंदु गुस्से में आ गये। वह गाड़ी
बारुईपुर : नकली सोने की कलाकृति बनाने वाले रैकेट का सरगना व कुलतली गोलीकांड के मुख्य अभियुक्त व टनेल मैन
लैंड लीज फीस माफ करने को लेकर फंसा है मामला एनजीटी ने कहा, जल्द से जल्द चालू करें काम, दें
कोलकाता : राज्य के सैकड़ों प्राथमिक स्कूल काफी बुरी हालत में हैं। ऐसे में अब प्रत्येक ब्लॉक व पालिका से
कोलकाता : राज्य सरकार के परिवहन विभाग की ओर से ‘वन स्टेट वन कार्ड’ चालू किया जा रहा है। यह
नई दिल्ली : दुनियाभर में तमाम लोगों के विंडोज सिस्टम पर ब्लू स्क्रीन की दिक्कत आ रही है। Microsoft के
कोलकाता : देवों के देव शिव शंभू, शिव शंकर साल का सबसे प्रिय माह श्रावण मास माना जाता है। इस
तीसरे सेमेस्टर की परीक्षा सितंबर और चौथे सेमेस्टर की परीक्षा मार्च में कोलकाता : 12 साल बाद उच्च माध्यमिक के
हावड़ा : तीन युवकों पर शनिवार को 12 साल की बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म कर उसे दफनाने का आरोप लगा
कल मुहर्रम पर महानगर में सुरक्षा चाक-चौबंद, ट्रैफिक होगी प्रभावित करीब 4 हजार पुलिस कर्मी रहेंगे तैनात कल शहर में
कोलकाता : 6 दोस्त मंदारमणि की यात्रा पर गए थे। सभी लोग समुद्र में स्नान करने गये। तभी 2 लोगों
रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया हुई शुरू कोलकाता : माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कक्षा 9 की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू करने जा रहा है। इसे
ऊपर