यात्रिगण ध्यान दें! अंतिम संस्कार में शामिल होने गए कर्मचारी, 100 से ज्यादा ट्रेनें रद्द

मुंबई: भारतीय रेलवे को देश की लाइफ लाइन कहा जाता है। लाखों लोग रेलवे की मदद से अपनी मंजिल तक पहुंचते हैं। वहीं देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के लिए तो रेलवे किसी जीवनदायक से कम नहीं है। यहां की लोकल ट्रेन का सफर तो विश्वप्रसिद्ध है। अक्सर लोकल ट्रेन यात्रा के फोटो और वीडियो वायरल होते रहते हैं। कहा जाता है कि अगर यहां एक भी दिन लोकल ट्रेन बंद कर दी जाएं तो पूरा मुंबई थम जाएगा। शनिवार को कुछ ऐसा ही हुआ। रेलवे को कई लोकल ट्रेनों समेत कई गाड़ियां रद्द करनी पड़ीं। इसके साथ ही कई ट्रेनें अपने तय समय से काफी देर से चलीं। इसके पीछे केवल एक ही कारण था। दरअसल शनिवार को रेलवे के तमाम कर्मचारी अपने एक साथी कर्मी की अंतिम यात्रा में शामिल होने चले गए। इस वजह से मुंबई में ट्रेनों के पहिये थम गए।
अंतिम संस्कार में शामिल होने श्मशान घाट गए थे सहकर्मी

जानकारी के अनुसार, शनिवार को कई मोटरमैन अपने सहकर्मी की अंतिम संस्कार में शामिल होने श्मशान घाट गए थे, जिसकी वजह से भायखला और सैंडहर्स्ट स्टेशन के बीच सेवाएं प्रभावित होने लगीं। इस वजह से हजारों यात्री सीएसएमटी समेत कई स्टेशनों पर फंस गए। यात्रियों ने जब ट्रेनों के ना चलने के पीछे की वजह पूछी तो अधिकारियों ने बताया कि कई मोटरमैन कल्याण में अपने सहयोगी के अंतिम संस्कार में गए हुए हैं।
पटरी पार करते समय हुई थी मौत

रेलवे अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार को बायकुला और सैंडहर्स्ट स्टेशन के बीच पटरी पार करते समय मोटरमैन मुरलीधर शर्मा की मौत हो गई थी। इन्हीं मृतक के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए कई अन्य कर्मचारी श्मशान घाट गए थे। उन्होंने बताया कि अंतिम संस्कार दोपहर में होना था लेकिन इसमें देरी हो गई और यह शाम को हुआ। इसी वजह कर्मचारियों के ड्यूटी पर पहुंचने में देरी हो गई।

 

Visited 66 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

वर्क आउट के दौरान नो लाउड म्यूजिक

एक्सरसाइज करते समय ज्यादातर यंगस्टर्स लाउड म्यूजिक सुनना पसंद करते हैं। पार्क हो या जिम सेंटर, दोनों जगह पर म्यूजिक के साथ वर्क आउट एंज्वॉय आगे पढ़ें »

सोमवार को विधि-विधान से करें भगवान शिव की पूजा, 4 बातों का रखे …

कोलकाता : हिंदू धर्म में भगवान शिव की पूजा का बहुत महत्व है। शास्त्रों के अनुसार, भगवान शिव जितने भोले हैं, उतने ही गुस्‍से वाले आगे पढ़ें »

ऊपर