Ameen Sayani Death: थम गई रेडियो की वो शानदार आवाज जिसने अमीन सयानी को बनाया था लोकप्रिय

नई दिल्ली: मशहूर रेडियो होस्ट अमीन सयानी का मंगलवार(20 फरवरी) शाम दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। करीब 91 साल की उम्र में उन्होंने आखिरी सांस ली। अमीन सयानी के बेटे राजिल सयानी ने मीडिया को उनके निधन की जानकारी दी। उनके बेटे के मुताबिक, अमीन सयानी को मंगलवार शाम करीब 6 बजे दक्षिण मुंबई स्थित उनके आवास पर दिल का दौरा पड़ा। दिल का दौरा पड़ने के बाद, उनका बेटा उन्हें दक्षिण मुंबई के एच.एन. रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल ले गया, जहां डॉक्टरों ने इलाज के एक के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया।

अमीन सयानी कुछ समय से हाई बल्ड प्रेशर और उम्र संबंधी अन्य बीमारियों से पीड़ित थे। बताया जाता है कि उन्हें पिछले 12 सालों से पीठ दर्द की भी शिकायत की थी, जिसके कारण उन्हें चलने-फिरने के लिए वॉकर का उपयोग करना पड़ता था।

रेडियो पर 42 सालों तक शो हुआ प्रसारित

अमीन सयानी एक प्रसिद्ध भारतीय उद्घोषक और टॉक शो होस्ट थे, जिन्होंने कई दशकों तक रेडियो होस्ट में अहम भूमिका निभाई। उनका शो “बिनाका गीतमाला”, जो करीब 42 वर्षों तक रेडियो सीलोन और बाद में ऑल इंडिया रेडियो के विविध भारती पर प्रसारित हुआ, उसने सफलता के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। सयानी की मनमोहक आवाज़ और आकर्षक शैली ने उन्हें पूरे भारत में एक घरेलू नाम बना दिया।

कई रिकॉर्ड किये हैं अपने नाम  

अमीन सयानी के पास 54,000 से अधिक रेडियो शोज के निर्माण/तुलना/वॉयस-ओवर का रिकॉर्ड है। उन्होंने लगभग 19,000 जिंगल्स के लिए वॉयसओवर दिए, जिससे उन्हें प्रतिष्ठित लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में जगह मिली। उन्होंने ‘भूत बांग्ला’, ‘तीन देवियां’ और ‘कत्ल’ जैसी फिल्मों में उद्घोषक के रूप में भी काम किया। सयानी का योगदान रेडियो तक सीमित नहीं था। उन्होंने फिल्मों में उद्घोषक के रूप में भी काम किया और “एस कुमार्स का फिल्मी मुकादम” जैसे लोकप्रिय शो की मेजबानी की, जो फिल्मी सितारों पर केंद्रित था। अमीन सयानी का अंतिम संस्कार कल दक्षिण मुंबई में होने की संभावना है।

इन अवॉर्ड से हुए सम्मानित
रेडियो की दुनिया में अपने योगदान के लिए अमीन सयानी को कई बड़े और प्रेस्टीजियस अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया था। जिनमें से कुछ हैं-
– लिविंग लीजेंड अवॉर्ड (2006)
– गोल्ड मेडल (1991) – इंडियन सोसाइटी ऑफ एडवरटाइजमेंट की तरफ से
– पर्सन ऑफ द ईयर अवॉर्ड (1992) – लिम्का बुक्स ऑफ रिकॉर्ड्स

– Kaan Hall of Fame Award (2003) – रेडियो मिर्ची की तरफ से

शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata News : …ताकि भीषण गर्मी में ना हो बिजली की समस्या

- विद्युत की मांग पर मंत्री ने की सीईएससी अधिकारियों के साथ बैठक कोलकाता : भीषण गर्मी में महानगरवासियाें का हाल बेहाल है। रोजाना ही विद्युत आगे पढ़ें »

भाजपा से बदला लेंगे: नक्सलियों की बड़ी धमकी

छत्तीसगढ़ : लोकसभा चुनाव के शुरू होने के 3 दिन पहले 16 अप्रैल को कांकेर में हुए एनकाउंटर के बाद अब नक्सल संगठन ने भाजपा आगे पढ़ें »

ऊपर