क्रिकेट खेलते समय 14 वर्षीय लड़के की हार्ट अटैक से मौत

पुणे : पुणे में दिल का दौरा पड़ने से 14 वर्षीय लड़के की मौत हो गई। यह लड़का अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेल रहा था। अचानक उनके सीने में दर्द होने लगा। दोस्तों ने तुरंत उसके पिता को सूचना दी और अस्पताल ले गए, लेकिन डॉक्टर ने उसकी हालत देखकर उसे बड़े अस्पताल में जाने को कहा। डॉक्टरों ने दूसरे अस्पताल में इलाज शुरू किया, लेकिन लड़के की मौत हो गई। हर कोई हैरान है कि इतने छोटे बच्चे को हार्ट अटैक आ गया। इस मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस ने भी मामले की जांच शुरू कर दी है।

 

वास्तव में क्या हुआ ?
मिली जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र में पुणे जिले के वनोरी इलाके में गुरुवार की शाम 14 वर्षीय छात्र वेदांत अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेल रहा था। खेलते-खेलते लड़के के सीने में तेज दर्द होने लगा। इतने में जमीन पर गिरकर बालक तड़पने लगा। साथ खेल रहे बच्चों ने तुरंत वेदांत के पिता को मामले की जानकारी दी। इसके बाद बच्चे को वनोरी के एक अस्पताल में ले जाया गया। वहां डॉक्टर ने लड़के की हालत देखकर प्राथमिक उपचार के बाद किसी बड़े अस्पताल में जाने की सलाह दी। इसके बाद परिजन बच्चे को फातिमा नगर स्थित एक निजी अस्पताल में ले गए। डॉक्टर ने बच्चे की हालत देखकर उसे भर्ती कर लिया, लेकिन इलाज के दौरान बच्चे की मौत हो गई। डॉक्टरों ने बताया कि कार्डियक अरेस्ट के कारण लड़के की हालत बिगड़ गई थी और इसी वजह से उसकी मौत हुई है।
पुलिस ने क्या कहा ?
सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों व डॉक्टरों से पूछताछ की। वनौरी थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक ने बताया कि बच्चे की मौत का कारण हार्ट अटैक था। पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि इतनी छोटे बच्चे के साथ ऐसा क्यों और कैसे हुआ। इसके लिए बच्चे के साथ खेल रहे अन्य बच्चों की भी जांच की जा रही है।

 

 

Visited 87 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Salman Khan के घर के बाहर फायरिंग करने वाले हमलावरों की तस्वीर आई सामने

मुंबई : बॉलीवुड एक्टर सलमान खान के घर के बाहर 14 अप्रैल की सुबह 3 राउंड ओपन फायरिंग हुई है। भारी सिक्योरिटी के बावजूद सुबह आगे पढ़ें »

सलमान खान के घर फायरिंग, पिता सलीम खान ने दिया ये बयान

कोलकाता: बॉलीवुड एक्टर सलमान खान काफी समय से गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के निशाने पर हैं। हालांकि, इस मामले पर अभी तक कोई बड़ा फैसला नहीं आगे पढ़ें »

ऊपर