क्या है लाक्षागृह विवाद जिसपर 53 साल बाद हिंदू पक्ष को मिला अधिकार ?

बागपत: उत्तर प्रदेश के बागपत में जिला एवं सत्र न्यायालय के सिविल जज जूनियर डिवीजन (प्रथम) शिवम द्विवेदी ने सोमवार(05 जनवरी) को जिले के ऐतिहासिक टीला ‘महाभारत के लाक्षागृह’ को शेख बदरुद्दीन की दरगाह व कब्रिस्तान बताने वाली मुस्लिम पक्ष की ओर से दायर करीब 54 साल पुरानी याचिका को खारिज कर दिया। अदालत ने फैसला सुनाते हुए कहा कि बरनावा के प्राचीन टीले पर न तो कोई कब्रिस्तान है और न ही कोई दरगाह, बल्कि वहां सिर्फ लाक्षागृह ही है। उन्होंने कहा कि मुस्लिम पक्ष लाक्षागृह की 100 बीघे जमीन को कब्रिस्तान और दरगाह बताकर उस पर कब्जा करना चाहता है। फैसले के अनुसार, विवादित स्थल पर हिंदू पक्ष का अधिकार है और मुस्लिम पक्ष को वहां से हटना होगा।

अदालत में पेश सबूतों पर आया निर्णय

हिन्दू पक्ष के वकील तोमर ने कहा कि हमने लाक्षागृह के सभी सबूत अदालत में पेश किए, जिसके आधार पर अदालत ने मुस्लिम पक्ष की उस याचिका को खारिज कर दिया कि लाक्षागृह शेख बदरुद्दीन की दरगाह और कब्रिस्तान था।

क्या है मामला ?

तोमर ने यह भी बताया कि बरनावा के रहने वाले मुकीम खान ने वर्ष 1970 में वक्फ बोर्ड के पदाधिकारी की हैसियत से मेरठ की सरधना की अदालत में दायर किए वाद में लाक्षागृह गुरुकुल के संस्थापक ब्रह्मचारी कृष्णदत्त महाराज को प्रतिवादी बनाते हुए दावा किया था कि बरनावा स्थित लाक्षागृह टीले पर शेख बदरुद्दीन की मजार और एक कब्रिस्तान मौजूद है और वक्फ बोर्ड का इस पर अधिकार है। वादी की ओर से अधिवक्ता शाहिद खान मुकदमे की पैरवी कर रहे थे। मेरठ के बाद यह मामला बागपत की अदालत में चल रहा था। वहीं, प्रतिवादी की ओर से अदालत में दावा किया गया कि प्राचीन टीले पर दरगाह या कब्रिस्तान का सवाल ही नहीं उठता, यह महाभारत काल का लाक्षागृह है, सुरंग, प्राचीन दीवारों आदि से जिसकी गवाही आज भी दी जाती है। इस मामले से संबंधित मुकीम खान और कृष्णदत्त महाराज दोनों का निधन हो चुका है। इस बीच, जब शाहिद खान से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि वे ऊपरी अदालत में जाएंगे और अपना मामला पेश करेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Weather Update: बंगाल में भीषण गर्मी के बीच आज 3 जिलों में बदलेगा मौसम, कहां-कहां होगी बारिश ?

कोलकाता: बंगाल में लोगों को लू और गर्म हवा का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग की मानें तो गर्मी की लहर अभी कम आगे पढ़ें »

SSC Recruitment Scam: कलकत्ता हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची राज्य सरकार

नई दिल्ली: SSC घोटाला मामले में कोलकाता हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ बंगाल सरकार आज सुप्रीम कोर्ट पहुंची। दरअसल, कलकत्ता हाईकोर्ट ने स्कूल सेवा आयोग आगे पढ़ें »

Supreme court ने CBI जांच के खिलाफ बंगाल के मुकदमे की सुनवाई 1 मई तक टाली

Election 2024: क्या है अमेरिका का इन्हेरिटेंस टैक्स, जिसे लेकर सैम पित्रोदा और कांग्रेस को घेर रही BJP

SSC के बाद TET प्रश्नपत्र का मामला, कलकत्ता हाईकोर्ट ने दिया निर्देश

इसरो ने दी चेतावनी: आ रहा है ‘जल-प्रलय’

नंदी बगान में इमारत में लगी भयावह आग, सिलेंडर ब्लास्ट में तीन फ्लैट जलकर राख

Bally Bridge: बाली ब्रिज से युवक ने नदी में लगा दी छलांग

Kolkata के इस इलाके में बढ़ी चोरी की वारदातें, रोकने में पुलिस भी नाकाम

Heatwave in West Bengal: बंगाल के कई जिलों में गर्मी को लेकर ऑरेंज-रेड अलर्ट जारी, हो जाएं सावधान

अगर त्वचा के लिए चाहते हैं प्राकृतिक निखार तो करें ये उपाय

ऊपर