दवाओं की कीमतों पर लगेगी रोक, 25-30% तक होंगी सस्ती

Fallback Image

कोलकाता: कई बीमारियों में ली जाने वाली दवाओं की कीमत में इस हफ्ते से गिरावट होने की संभावना है। हृदय रोग, सूजन, अल्सर और वायरल संक्रमण के लिए उपयोग की जाने वाली दवाओं सहित कम से कम एक दर्जन दवाओं की कीमतों में इस सप्ताह 25% -30% की गिरावट देखने की संभावना है। देशभर में दवाओं की कीमतों को नियंत्रित करने वाली केंद्रीय सरकार नियामक एजेंसी राष्ट्रीय औषधि मूल्य निर्धारण प्राधिकरण (एनपीपीए) द्वारा पिछले महीने एक अधिसूचना जारी की थी। घटी हुई नई कीमतों के साथ दवाओं के बैच इस सप्ताह के अंत तक दुकानों में पहुंचने की संभावना है।

इन दवाओं की घटेगी कीमत

मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों के दर्द और ऑपरेशन के बाद दर्द जैसी स्थितियों में दर्द और सूजन से राहत देने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली एसिक्लोफेनाक, पेरासिटामोल और सेराटिपेटिड की एक संयोजन दवा अब 10 गोलियों की एक पट्टी के लिए कम से कम 12 रुपये सस्ती होगी। रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए उपयोग की जाने वाली एम्लोडिपाइन और बिसोप्रोलोल से बनी एक और संयोजन दवा अब एक स्ट्रिप के लिए 88 रुपये के बजाय 84.50 रुपये में बेची जाएगी।

‘हाल के दिनों में सबसे ज्यादा कटौती’

बंगाल केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट्स एसोसिएशन के महासचिव और ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट्स (AIOCD) के संयुक्त सचिव सजल गांगुली ने कहा कि NPPA द्वारा घोषित कटौती हाल के दिनों में सबसे ज्यादा है। AIOCD, NPPA के महासचिव राजीव सिंघल ने 2 फरवरी को दवा-कीमतों में एक और बदलाव की घोषणा की थी, जिसके बाद 39 फॉर्मूलेशन की कीमतों में बदलाव होना तय है।

Visited 42 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

वर्क आउट के दौरान नो लाउड म्यूजिक

एक्सरसाइज करते समय ज्यादातर यंगस्टर्स लाउड म्यूजिक सुनना पसंद करते हैं। पार्क हो या जिम सेंटर, दोनों जगह पर म्यूजिक के साथ वर्क आउट एंज्वॉय आगे पढ़ें »

सोमवार को विधि-विधान से करें भगवान शिव की पूजा, 4 बातों का रखे …

कोलकाता : हिंदू धर्म में भगवान शिव की पूजा का बहुत महत्व है। शास्त्रों के अनुसार, भगवान शिव जितने भोले हैं, उतने ही गुस्‍से वाले आगे पढ़ें »

ऊपर