Good News : करोड़ों महिलाओं के लिए वित्त मंत्री ने लिया बड़ा फैसला

नई दिल्ली : देशभर की महिलाओं के लिए बड़ी खुशखबरी है। वित्त मंत्रालय ने सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंकों और निजी क्षेत्र के पात्र बैंकों को महिला सम्मान बचत प्रमाणपत्र, 2023 को लागू करने और इसकी बिक्री करने की अनुमति दे दी है। यानी अब आप इस स्कीम का फायदा प्राइवेट और सरकारी किसी भी बैंक ले सकते हैं। इसके लिए आपको सिर्फ पोस्ट ऑफिस में जाने की जरूरत नहीं है।

वित्त मंत्रालय ने जारी किया बयान

वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग ने 27 जून, 2023 को जारी एक ई-गजट अधिसूचना के माध्यम से यह नियमन जारी किया है। वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान में कहा है कि इस कदम का उदेश्‍य लड़कियों/ महिलाओं के लिए योजना की पहुंच बढ़ाने में मदद करना है। इस तरह अब महिला सम्मान बचत प्रमाणपत्र योजना की सदस्यता डाकघरों के साथ पात्र अनुसूचित बैंकों में भी ली जा सकेगी।”

बजट में केंद्र सरकार ने किया था ऐलान
महिलाओं के बीच बचत प्रोत्साहन के लिए शुरू की गई यह योजना डाक विभाग के माध्यम से एक अप्रैल, 2023 से ही लागू है। केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2023-24 के आम बजट में देश की हरेक लड़की और महिला को वित्तीय सुरक्षा उपलब्‍ध कराने के लिए महिला सम्मान बचत प्रमाणपत्र 2023 योजना की घोषणा की थी।

7.7 प्रतिशत मिलेगा ब्याज
इस योजना के तहत जमा राशि पर 7.5 प्रतिशत प्रति वर्ष की दर से ब्याज मिलेगा जो तिमाही आधार पर जुड़ेगा। इस तरह प्रभावी ब्याज दर लगभग 7.7 प्रतिशत होगी।

मिनिमम 1000 रुपये से कर सकते हैं शुरुआत
न्यूनतम 1000 रुपये और अधिकतम दो लाख रुपये की सीमा के भीतर 100 के गुणक में कोई भी राशि जमा की जा सकती है। इस योजना के तहत निवेश की परिपक्वता योजना के तहत खाता खोलने की तिथि से दो वर्ष है। इस योजना के तहत 31 मार्च, 2025 को या उससे पहले दो वर्ष की अवधि के लिए खाता खोला जा सकता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

Loksabha Elections : 21 राज्यों की 102 सीटों पर 63% वोटिंग

नई दिल्ली : लोकसभा के फर्स्ट फेज में 21 राज्यों-केंद्र शासित प्रदेशों की 102 सीटों पर वोटिंग पूरी हुई है। सुबह 7 बजे से शाम आगे पढ़ें »

चीन की उड़ी नींद! भारत ने फिलीपींस को भेजा ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल

नई दिल्ली: भारत ने फिलीपींस को शक्तिशाली ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल की पहली खेप भेज दी है। डिफेंस एक्सपोर्ट में भारत ने ये बड़ा कदम आगे पढ़ें »

ऊपर