केंद्र सरकार ने बंद किए लाखों मोबाइल नंबर, बताई ये वजह

नई दिल्ली: देश में साइबर फ्रॉड के बढ़ते मामले को लेकर केंद्र सरकार अलर्ट है। सरकार समय-समय पर कड़े एक्शन ले रही है। अब केंद्र सरकार ने 70 लाख मोबाइल नंबर को बंद कर दिया है। इसके बारे में वित्तीय सेवा सचिव विवेक जोशी मंगलवार(28 नवंबर) को जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सरकार ने डिजिटल धोखाधड़ी पर रोक लगाने के उद्देश्य से संदिग्ध लेन-देन में शामिल 70 लाख मोबाइल नंबर निलंबित कर दिए हैं। वित्तीय साइबर सुरक्षा और बढ़ते डिजिटल भुगतान धोखाधड़ी से संबंधित मुद्दों पर एक बैठक के बाद जोशी ने कहा कि बैंकों को इस संबंध में व्यवस्था और प्रक्रियाओं को मजबूत करने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि ऐसी और बैठकें होंगी। अगली बैठक जनवरी में होगी।

राज्यों को सख्ती करने का दिया निर्देश 

वित्तीय सेवा सचिव ने आधार सक्षम भुगतान प्रणाली (एईपीएस) धोखाधड़ी के संबंध में कहा कि राज्यों को इस मुद्दे पर गौर करने और आंकड़ों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। उन्होंने यह भी कहा कि बैठक में व्यापारियों के केवाईसी मानकीकरण के संबंध में भी चर्चा हुई। वित्तीय सेवा सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस बात पर भी चर्चा हुई कि साइबर धोखाधड़ी को रोकने के लिए विभिन्न एजेंसियों के बीच बेहतर समन्वय कैसे सुनिश्चित किया जाए। जोशी ने कहा कि भोले-भाले ग्राहकों को ठगे जाने से बचाने के लिए समाज में साइबर धोखाधड़ी के बारे में जागरूकता पैदा करने की जरूरत है।

फ्रॉड के आंकड़े सरकार ने किए जारी

भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र ने राष्ट्रीय साइबर अपराध रिपोर्टिंग पोर्टल (एनसीआरपी) में रिपोर्ट किए गए डिजिटल भुगतान धोखाधड़ी के नवीनतम आंकड़ों पर एक प्रस्तुति दी, जिसमें ऐसे मामलों से निपटने में आने वाली चुनौतियां और मुद्दे शामिल थे। बैठक में आर्थिक मामलों के विभाग, राजस्व विभाग, दूरसंचार विभाग, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई), भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण और भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया।

 

 

Visited 29 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata Airport आज रहेगा बंद !

कोलकाता : आज मंगलवार को भी कोलकाता एयरपोर्ट का रन वे आधे घंटे के लिए बंद रहेगा। मेट्रो रेलवे को बारासात मेट्रो लाइन का ड्रोन आगे पढ़ें »

Apple पर EU ने लगाया 2 अरब डॉलर का जुर्माना, जानें कारण

लंदनः यूरोपीय संघ ने एप्पल के खिलाफ लगभग दो अरब अमेरिकी डॉलर का प्रतिस्पर्धारोधी जुर्माना लगाया। अमेरिकी कंपनी पर दूसरे प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले अपनी संगीत स्ट्रीमिंग आगे पढ़ें »

ऊपर
error: Content is protected !!