WBCHSE: उच्च माध्यमिक की शिक्षा प्रणाली में हो सकता है ये बदलाव, कर लें नोट

कोलकाता : शैक्षणिक वर्ष 2024-25 से 11वीं और 12वीं कक्षाओं में सेमेस्टर प्रणाली लागू होने जा रही है। ऐसे में जो छात्र माध्यमिक पास करने वाले हैं, वे नए पाठ्यक्रम में पढ़ाई करेंगे और ग्यारहवीं और बारहवीं कक्षा में कुल चार परीक्षाएं देंगे। उच्च माध्यमिक शिक्षा परिषद ने इस संबंध में नई पाठ्यक्रम योजना पहले ही विकास भवन को भेज दी थी। शिक्षा मंत्री ब्रात्य बसु ने कहा कि विधानसभा सत्र खत्म होने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से इस पर चर्चा की जायेगी। उसके बाद अंतिम निर्णय लिया जायेगा। विकास भवन ने इस नयी पाठ्यक्रम वाली योजना पर सहमति जताई है। शिक्षा मंत्री ब्रात्य बसु ने कहा कि विधानसभा में बजट सत्र खत्म होने के बाद ही वह मुख्यमंत्री से बात करेंगे। यदि वह सहमत हो गईं तो चालू शैक्षणिक वर्ष से सेमेस्टर प्रणाली शुरू हो जाएगी। बता दें कि ग्यारहवीं कक्षा का पहला सेमेस्टर नवंबर 2024 में होगा और दूसरा सेमेस्टर मार्च 2025 में होगा। वहीं 12वीं कक्षा का पहला सेमेस्टर इसी साल नवंबर में होगा और दूसरा सेमेस्टर मार्च 2026 में होगा। बताया जा रहा है कि उच्च माध्यमिक के नतीजे 12वीं कक्षा के दो सेमेस्टर के मूल्यांकन के आधार पर घोषित किए जाएंगे। स्कूल में ग्यारहवीं कक्षा के दो सेमेस्टर होंगे।

उच्च माध्यमिक को किया जायेगा डिजिटलाइजेशन

उच्च माध्यमिक परीक्षा प्रणाली को डिजिटलाइज करने पर जोर दिया जा रहा है। पहले परीक्षा के पेपर जांचने वाले टेबुलेशन शीट पर नंबर बैठाकर भेज दिया करते थे, लेकिन डिजिटल मैनेजमेंट में इस टेबुलेशन शीट का कोई खास महत्व नहीं है। परीक्षक संबंधित उच्च माध्यमिक परीक्षार्थियों के रोल नंबर के साथ प्राप्त अंकों को सीधे पोर्टल पर अपडेट कर सकते हैं। गौरतलब है कि उच्च माध्यमिक की परीक्षा 16 फरवरी से शुरू होने जा रही है। हालांकि इसकी संभावना कम है, कारण अभी तक यह पोर्टल तैयार नहीं हुआ है।

बताया जा रहा है कि वेबेल को पोर्टल का काम सौंपा गया है और 6 महीने के अंदर काम पूरा करने का निर्देश दिया गया है। बताया जा रहा है कि यह काम पूरा होते ही 30 साल पुराना हाईस्कूल सर्टिफिकेट भी ऑनलाइन उपलब्ध हो जाएगा। 1978 से उच्च माध्यमिक परीक्षा के सभी प्रमाणपत्र भी इस प्रणाली के माध्यम से डिजिटल रूप से उपलब्ध होंगे। इस संबंध में शिक्षा मंत्री ब्रात्य बसु ने कहा कि मुख्यमंत्री शिक्षा के विस्तार में डिजिटलाइजेशन को एक प्रमुख उपकरण बनाना चाहती हैं। उच्च माध्यमिक शिक्षा परिषद ने यह एक नयी नींव रखी है। मेरे हिसाब से इससे परीक्षा प्रणाली बहुत पारदर्शी हो जायेगी तथा गोपनीयता बरकरार रहेगी। माध्यमिक में क्यूआर कोड का उपयोग करके हमें बड़ी सफलता मिली है। इसमें भी सफलता मिलेगी और अन्य राज्य भी इसका अनुसरण करने के लिए मजबूर होंगे।

Visited 60 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata Airport आज रहेगा बंद !

कोलकाता : आज मंगलवार को भी कोलकाता एयरपोर्ट का रन वे आधे घंटे के लिए बंद रहेगा। मेट्रो रेलवे को बारासात मेट्रो लाइन का ड्रोन आगे पढ़ें »

Apple पर EU ने लगाया 2 अरब डॉलर का जुर्माना, जानें कारण

लंदनः यूरोपीय संघ ने एप्पल के खिलाफ लगभग दो अरब अमेरिकी डॉलर का प्रतिस्पर्धारोधी जुर्माना लगाया। अमेरिकी कंपनी पर दूसरे प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले अपनी संगीत स्ट्रीमिंग आगे पढ़ें »

ऊपर
error: Content is protected !!