कोलकाता में अभी कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं !

Fallback Image

कल्पना सिंह

कोलकाता में कोविड-19 पॉजिटिविटी रेट 1% से अधिक, लेकिन चिंता की बात नहीं
कोलकाता: कोलकाता में कोविड-19 पॉजिटिविटी रेट 1% के आंकड़े को पार कर गई है, जबकि राज्य की समग्र पॉजिटिविटी रेट अभी भी इससे नीचे है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि कोविड-19 काफी नियंत्रण में है और जब तक सकारात्मकता दर 5% से नीचे रहती है तब तक चिंता करने की कोई बात नहीं है। अधिकारियों ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग नियमित रूप से समग्र कोविड परिदृश्य की निगरानी कर रहा है ताकि समय आने पर निवारक उपाय किए जा सकें।
आंकड़ों पर एक नजर
मार्च 12-18 के बीच के स्वास्थ्य मंत्रालय के सप्ताह के जिलेवार आंकड़ों के अनुसार, कोलकाता में कोविड पॉजिटिविटी दर 1.1% है। कोलकाता के अलावा, पूर्वी मिदनापुर में भी कोविड पॉजिटिविटी दर 1.2% है जो बंगाल में अब तक का सबसे अधिक है और 1% से ऊपर कोविड पॉजिटिविटी रेट वाला एकमात्र जिला है। स्वास्थ्य विभाग के निदेशक डॉ. सिद्धार्थ नियोगी ने कहा कि एक अंक में दैनिक सकारात्मक मामले या 1% की सकारात्मकता सार्वजनिक स्वास्थ्य की दृष्टि से चिंता का कोई कारण नहीं है। हम वर्तमान में मामलों में किसी प्रकार की वृद्धि नहीं देख रहे हैं। नियोगी ने कहा, हमारे राज्य में जो बेहतरीन टीकाकरण कवरेज है, उससे हमें मदद मिलनी चाहिए। फिर भी हम निगरानी कर रहे हैं कि अन्य राज्य कोविड के बढ़ते मामलों का सामना कैसे कर रहे हैं।
अभी तक अस्पतालों में नहीं हैं कोविड मरीज
कोलकाता के अधिकांश अस्पतालों में वर्तमान में कोविड मरीज इलाजरत नहीं हैं। अक्टूबर में जब अस्पतालों में कोविड के मामले ना के बराबर सामने आ रहे थे तभी अस्पतालों से कोविड वार्ड को लगभग हटा दिया गया था लेकिन अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि जरूरत पड़ने पर वे अपनी सेवाएं देने के लिए तैयार हैं।
कोरोना निषेधाज्ञाओं का पालन करना चाहिए
सर्जरी के प्रोफेसर दिप्तेन्द्र सरकार जो आईपीजीएमईआर में कोविड-19 टास्क फॉर्स टीम में शामिल हैं, ने कहा कि ” वर्तमान में 1% की कोविड पॉजिटिविटी रेट के बारे में चिंता करने की कोई बात नहीं है। यहां तक ​​कि अगर स्पाइक लंबे समय तक होता है तो यह केवल हल्के संक्रमण के कारण बनेगा। इससे मृत्यु दर नहीं बढ़ेगी। हमें फिलहाल पैनिक बटन दबाने की जरूरत नहीं है। लेकिन बुजुर्ग और सह-रुग्णता वाले लोगों को कोरोना निषेधाज्ञाओं का पालन करना चाहिये और उन्हें अधिक सावधान रहने की जरूरत है।” स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश के छह राज्यों के 14 जिलों में सकारात्मकता दर 10% से अधिक है। देशभर के अन्य 34 जिलों में सकारात्मकता दर 5% -10% के बीच है। हालांकि, इनमें से कोई भी जिला बंगाल से नहीं है। बंगाल में नौ जिले ऐसे हैं जहां कोविड पॉजिटिविटी रेट 1% से कम है और अन्य 12 जिलों में इस अवधि के दौरान एक भी कोविड का मामला सामने नहीं आया है।
स्वास्थ्य विभाग ने कोविड-19 बुलेटिन जारी करना बंद कर दिया
पश्चिम बंगाल के स्वास्थ्य विभाग ने अपना खुद का कोविड-19 बुलेटिन जारी करना बंद कर दिया है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के रिकॉर्ड के अनुसार, उनके द्वारा जारी अंतिम ‘कोरोना बुलेटिन’ 28 जनवरी 2023 को जारी किया गया था।
मार्च में जिलेवार आंकड़ों पर एक नजर
पूर्व मिदनापुर – 1.2%
कोलकाता – 1.1%
अलीपुरदुआर – 0.9%
मुर्शिदाबाद – 0.9%
पूर्व बर्दवान – 0.9%
मालदह – 0.7%
हावड़ा – 0.7%
नदिया – 0.7%
दार्जिलिंग – 0.4%
पश्चिम मिदनापुर – 0.3%
अन्य जिले- 0 %
सकारात्मकता दर कोलकाता आरटी-पीसीआर द्वारा किए गए 93% परीक्षणों और आरएटी द्वारा किए गए 7% परीक्षण पर आधारित है।

Visited 149 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata Metro Timing : आज से रात 11 बजे के बाद भी चलेगी मेट्रो !

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि मेट्रो रेलवे आज यानी 24 मई से प्रायोगिक तौर पर रात में ब्लू लाइन आगे पढ़ें »

Weather Update: बंगाल में भीषण गर्मी के बीच आज 3 जिलों में बदलेगा मौसम, कहां-कहां होगी बारिश ?

कोलकाता: बंगाल में लोगों को लू और गर्म हवा का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग की मानें तो गर्मी की लहर अभी कम आगे पढ़ें »

kolkata: श्यामबाजार में PM मोदी ने किया रोडशो, भगवा साड़ी पहने महिला समर्थक भी उतरी रोड पर…

Kolkata: ममता ने एक दिन में किया दो रोड शो…

PM Modi आखिरी चरण की वोटिंग से पहले जाएंगे कन्याकुमारी, करेंगे …

बारासात में TMC पर भड़के PM मोदी, कहा …

लोकसभा क्षेत्र दमदम में ममता ने किया रोडशो….4 किलोमीटर तक पैदल… 

PM Modi Roadshow in Kolkata : अब से बस थोड़ी देर बाद पीएम मोदी का रोड शो

’10-15 रुपये कमाने के लिए सोचना पड़ता…’ IPL सैलरी को लेकर Rinku Singh ने दे दिया …

राम रहीम डेरा मैनेजर की हत्या के केस में बरी

650 से अधिक यात्री बदरीनाथ के दर्शन किए बिना ही लौटे घर, क्या है मामला??

मिजोरम में बारिश ने मचायी तबाही, 12 लोगों की मौत, कई लोग हो गए लापता….

ऊपर