पंचायत चुनाव : बम धमाके और गोलियों की तड़तड़ाहट से दहला कैनिंग

सन्मार्ग संवाददाता

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में आठ जुलाई को होने वाले पंचायत चुनाव के सिलसिले में नामांकन दाखिल करने को लेकर विभिन्न जगहों पर हिंसा हुई और सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस एवं विपक्षी दलों के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने बल प्रयोग किया। राज्य के दक्षिण 24 परगना और बांकुड़ा जिलों में नामांकन दाखिल करने को लेकर लगातार पांचवें दिन भी हिंसा जारी रही।
भीड़ को तितर-बितर करने के लिए किया गया लाठीचार्ज
इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) और तृणमूल के समर्थक कोलकाता से करीब 30 किलोमीटर दूर दक्षिण 24 परगना के भांगड़ इलाके में आपस में भिड़ गए। स्थिति पर काबू के लिए भारी पुलिस बल वहां भेजा गया, जिसने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया। दोनों दलों के समर्थकों ने एक-दूसरे को नामांकन दाखिल करने से रोकने की कोशिश की और इस क्रम में उन्होंने बम फेंके एवं कई कारों को नुकसान पहुंचाया। पुलिस के अनुसार दोनों पक्षों के कई कार्यकर्ता घायल हो गए। जिले के कैनिंग इलाके में भी हिंसा हुई जहां तृणमूल के असंतुष्ट गुटों के सदस्यों से कथित तौर पर जुड़े उपद्रवियों ने पार्टी के आधिकारिक उम्मीदवारों को नामांकन दाखिल करने से रोकने की कोशिश की। पुलिस ने बताया कि उपद्रवियों ने त्वरित कार्रवाई बल (आरएएफ) के जवानों पर बम फेंके और पथराव किया और स्थिति पर काबू के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े।
नामांकन केंद्र के बाहर ही भिड़े भाजपा और तृणमूल कार्यकर्ता
अधिकारियों के अनुसार बांकुड़ा के इंदास इलाके में नामांकन केंद्र के बाहर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कार्यकर्ताओं की तृणमूल समर्थकों से झड़प हो गई। पुलिस द्वारा स्थिति को नियंत्रित करने की कोशिश किए जाने के बावजूद दोनों दलों के समर्थक आपस में भिड़ गए और एक-दूसरे पर पथराव किया। पंचायत चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया नौ जून को शुरू हुई और उसके बाद से ही राज्य के विभिन्न हिस्सों में नामांकन रोकने के लिए हिंसक घटनाएं हुईं। भाजपा, कांग्रेस और माकपा आदि विपक्षी दलों ने तृणमूल पर दूसरे दलों के उम्मीदवारों को नामांकन दाखिल करने से रोकने के लिए बाहुबल का उपयोग करने का आरोप लगाया है।
क्या कहना है नौशाद सिद्दीकी ने कहा
आईएसएफ नेता और भांगर के विधायक नौशाद सिद्दीकी ने कहा, ‘‘तृणमूल कांग्रेस के गुंडे हमारे उम्मीदवारों को नामांकन दाखिल करने से रोकने के लिए कल रात से हिंसा पर उतारू हैं।’’
तृणमूल के राज्य प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा…
तृणमूल के राज्य प्रवक्ता कुणाल घोष ने विपक्ष के आरोपों को खारिज कर दिया और कहा कि आईएसएफ इलाके में हिंसा भड़काने की कोशिश कर रही है। सत्ता पक्ष ने विपक्षी दलों से अपने उम्मीदवारों की पूरी सूची जारी करने को भी कहा ताकि जरूरत पड़ने पर उन्हें नामांकन दाखिल करने में मदद मिल सकती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Weather Update: बंगाल में भीषण गर्मी के बीच आज 3 जिलों में बदलेगा मौसम, कहां-कहां होगी बारिश ?

कोलकाता: बंगाल में लोगों को लू और गर्म हवा का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग की मानें तो गर्मी की लहर अभी कम आगे पढ़ें »

Supreme court ने CBI जांच के खिलाफ बंगाल के मुकदमे की सुनवाई 1 मई तक टाली

नयी दिल्ली : उच्चतम न्यायालय ने पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा दाखिल एक मुकदमे पर सुनवाई बुधवार को 1 मई तक स्थगित कर दी। बंगाल सरकार आगे पढ़ें »

Election 2024: क्या है अमेरिका का इन्हेरिटेंस टैक्स, जिसे लेकर सैम पित्रोदा और कांग्रेस को घेर रही BJP

SSC के बाद TET प्रश्नपत्र का मामला, कलकत्ता हाईकोर्ट ने दिया निर्देश

इसरो ने दी चेतावनी: आ रहा है ‘जल-प्रलय’

नंदी बगान में इमारत में लगी भयावह आग, सिलेंडर ब्लास्ट में तीन फ्लैट जलकर राख

Bally Bridge: बाली ब्रिज से युवक ने नदी में लगा दी छलांग

Kolkata के इस इलाके में बढ़ी चोरी की वारदातें, रोकने में पुलिस भी नाकाम

Heatwave in West Bengal: बंगाल के कई जिलों में गर्मी को लेकर ऑरेंज-रेड अलर्ट जारी, हो जाएं सावधान

अगर त्वचा के लिए चाहते हैं प्राकृतिक निखार तो करें ये उपाय

Likes-Comments के लिए चलती कार के दरवाजे से लटका शख्स, दंग करेगा खौफनाक स्टंट का Video

ऊपर