एगरा, बजबज और अब दत्तपुकुर…क्यों नहीं रूक रही हैं ऐसी घटनाएं ?

शेयर करे

* राज्य में ग्रीन क्लस्टर बनाने की योजना के बीच फिर जबरदस्त विस्फाेट, उठ रहे हैं सवाल
* 5 जिलों में कालीपूजा के बाद शुरू होंगे क्लस्टर के काम
* मार्च 2024 से क्लस्टर में ग्रीन पटाखा तैयार करने का लक्ष्य
* 600 लोगों की ट्रेनिंग पूरी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राज्य में एक बार फिर से कारखाना में भयावह विस्फोट से कईयों की जान चली गयी। घटना बारासात के दत्तपुकुर की है। विस्फोट इतना जबरदस्त था कि शवों के चीथड़े उड़ गये और कारखाना पूरी तरह से जमींदोज हो गयी है। सवाल उठता है कि आखिर क्यों इस तरह की घटनाओं को रोक नहीं पा रही है? लाेगों के अनुसार क्या एगरा की घटना से भी प्रशासन ने सबक नहीं ली? उल्लेखनीय कि एगरा की घटना के बाद ही नवान्न ने पुलिस प्रशासन को कई दिशा निर्देश दिया था। राज्य में हर जगह एहतियाती कदम उठाने को कहा गया। मुख्यमंत्री ने खुद बैठक की थीं। इसके बाद राज्य सरकार अवैध पटाखे कारखाने के प्रसार को रोकने और विस्फोटों में जानमाल के नुकसान से बचने के लिए हाल में ग्रीन क्लस्टर के गठन की घोषणा की है। जहां – तहां फैले पटाखा फैक्ट्रियों को बंद कर एक क्लस्टर बनाने का निर्णय लिया गया, जिसके तहत प्रशासन की देखरेख में एक ही स्थान पर कई फैक्ट्रियां बनाई जाएंगी। दरअसल, पटाखा क्षेत्र में राज्य सरकार काफी कुछ बदलाव लाना चाहती है। रविवार को दत्तपुकुर में फैक्ट्री में हुए विस्फोट ने फिर से सवाल खड़ा कर दिया है। पुलिस छापेमारी अभियान चलाती है तथा गिरफ्तारियां भी करती है एवं अवैध पटाखे भी जब्त करती है लेकिन बावजूद इसके आखिर क्या कारण है कि ऐसी घटनाओं पर पूरी तरह से लगाम नहीं लग पा रही है?
गठित हुई है कमेटी !
एगरा की घटना के बाद ग्रीन क्लस्टर को लेकर एक कमेटी बनायी जाने की बात कही गयी है। उस कमेटी में अग्निशमन विभाग, पर्यावरण, लघु एवं कुटीर उद्योग विभाग के सचिवों को रखने की बात है। राज्य में पटाखों को पर्यावरण के अनुकूल पटाखे बनाने का प्रशिक्षण देने के लिए नागपुर के राष्ट्रीय संस्थान से संपर्क कर उनके प्रतिनिधिमंडल विभिन्न जिलों में जाकर ईको फ्रेंडली पटाखे बनाने का प्रशिक्षण देने की शुरूआत की गयी।
नवान्न ने दिये थे खास निर्देश
अवैध पटाखा वालों पर तत्काल कार्रवाई की जाए। गैरकानूनी पटाखा फैक्टरियों की तलाशी ली जाए। यदि बड़ी मात्रा में पटाखा बरामद हो तो आवश्यकता पड़ने पर उसे थोड़ा-थोड़ा करके नष्ट कर देना चाहिए।
5 जिलों में बनेंगे ग्रीन क्लस्टर, अगले साल से शुरू होगा उत्पाद
जानकारी के मुताबिक फिलहाल 5 जिलों में ग्रीन क्लस्टर तैयार करने की सरकार की योजना है। इन पांच जिलों दक्षिण 24 परगना के चम्पाहाटी औल महेशतल्ला, उत्तर 24 परगना के बनगांव, पूर्व मिदनापुर के चिलका में व पश्चिम मिदनापुर में हल्दिया में क्लस्टर तैयार होंगे। सारा बांगला आतिशबाजी उन्नयन समिति के चेयरमैन बबला राय के मुताबिक इस संबंध में बैठक भी हुई थी तथा कालीपूजा के बाद से काम शुरू होगा तथा अगले साल मार्च से ग्रीन पटाखा का उत्पादन भी शुरू हो जायेगा। 600 लोगों को ट्रेनिंग दी जा चुकी है तथा 400 लोगों को सर्टिफिकेट भी दी गयी है। हालांकि पटाखा कार्य से जुड़े लोगों की संख्या काफी ज्यादा है और चरणबद्ध तरीके से ट्रैनिंग की जायेगी।
‘दत्तपुकुर में पटाखा नहीं, बम विस्फोट हुआ’
बाबला राय का कहना है कि दत्तपुकुर और एगरा एक घटना एक नहीं हैं क्योंकि वहां से जो केमिकल बरामद हुए है वह पटाखा बनाने में इस्तेमाल नहीं होते हैं। उन्होंने दावा किया कि प्रतिबंधित हाई-डेसीबल ‘चॉकलेट बम’ बनाये जा रहे थे। उन्होंने कहा कि दीदी यहां पटाखा उद्योग को बचाने के लिए कोशिश कर रही हैं। ऐसे में उन्हें लगता है कि पटाखा का नाम देकर साजिश रची जा रही है। यहां जिनकी मृत्यु हुई है वे आईएसएफ के लोग हैं।

एक नजर हाल की बड़ी घटनाओं पर
* 20 मार्च को दक्षिण 24 परगना के महेशतला के पुटखाली मंडलपाड़ा में पटाखा कारखाना में भीषण विस्फोट हुआ था, यहां पटाखा सट्टा फैक्ट्री मालिक की पत्नी, बच्चे और एक पड़ोसी की मौत हो गई। बाजी फैक्ट्री आबादी वाले इलाके में बनाई गई थी। विस्फोट के कुछ ही देर बाद आग लग गई।
* 16 मई को पूर्व मिदनापुर के एगरा के खड़ीकुल गांव में एक अवैध पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट हो गया। उस धमाके में मुख्य अभियुक्त भानू बाग समेत 12 लोगों की मौत हो गई थी। यह फैक्ट्री अवैध तरीके से बनाई गई थी। कारखाना में विस्फोट के बाद वह घायल हालत में ओडिशा फरार हो गया था बाद में इलाज के दौरान मौत हो गयी थी।
* 22 मई को दक्षिण 24 परगना के बजबज में विस्फोट में एक ही परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई थी जिस स्थान पर विस्फोट हुआ, वहां से पटाखे के मसालों बरामद किए गए।
* 23 मई को मालदा के इंग्लिश बाजार स्थित नेताजी कमर्शियल मार्केट में एक पटाखे की दुकान में कार्बाइड ड्रम फट गया और आग लग गई थी। आग लगने से दो लोगों की मौत हो हो गयी थी।

Visited 100 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

कोलकाता: दक्षिण बंगाल भीषण गर्मी से झुलस रहा है। लोगों के लिए सुबह-सुबह तेज धूप में निकलना मुश्किल हो गया
मंगाफ: कुवैत के मंगाफ में बुधवार सुबह एक ब्लिडिंग में लगी भीषण आग में 41 लोगों की मौत हो गई
अयोध्या: राम मंदिर के चलते देश-दुनिया में अयोध्या का अपना अलग स्थान है। ऐसे में इसकी सुरक्षा के लिए तमाम
कोलकाता: पश्चिम बंगाल में अब रद्द की जा चुकी शिक्षकों की भर्ती के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने उन
नदिया : नदिया जिले की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बांग्लादेशी मवेशी तस्करों ने बीती रात BSF जवानों पर हमला कर दिया। इस
कोलकाता: राज्य के अधिकांश जिले भीषण गर्मी से तप रहा है। दक्षिण बंगाल के लोग भीषण गर्मी से बेहाल हैं।
नई दिल्ली: हिंदू धर्म शास्त्रों में एकादशी तिथि का विशेष महत्व है। हर माह दोनों पक्षों की एकादशी को एकादशी
हावड़ा: बीते दिन रानीगंज के बाद अब कोलकाता से सटे हावड़ा में दिनदहाड़े डकैती की वारदात हुई है। दरअसल, हावड़ा
नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने NEET गड़बड़ी को लेकर सुनवाई के दौरान नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) को नोटिस जारी किया
हावड़ा : हाल ही में हुई गार्डनरीच की घटना ने हावड़ा निगम की आंखें खोल दीं। इसके बाद निगम की ओर
कोलकाता: पार्क स्ट्रीट के पार्क सेंटर में भीषण आग लग गई है। घटनास्थल पर दमकल की 9 गाड़ियां मौजूद है।
कोलकाता: मोदी कैबिनेट का गठन हो चुका है। अब केंद्र सरकार की ओर से राज्य के लिए बड़ी खुशखबरी है।
ऊपर