Bengal Weather: सरस्वती पूजा पर बंगाल में बरसेगा बादल, इन जिलों में होगी बारिश

कोलकाता: बसंती पंचमी और वैलेंटाइन डे पर बंगाल में एक बार फिर मौसम में परिवर्तन होने जा रहा है। मौसम विभाग ने सरस्वती पूजा के दिन तेज हवा के साथ बारिश की चेतावनी दी है। जबकि कुछ इलाकों में वज्रपात भी हो सकता है। दक्षिण बंगाल के 8-10 जिलों में वज्रपात के साथ बारिश का अलर्ट है। वहीं, उत्तर बंगाल के 2 जिलों में बसंत पंचमी और उसके बाद गुरुवार को हल्की बारिश हो सकती है। दक्षिण बंगाल में मंगलवार(13 फरवरी) यानी आज से ही आकाश में बादल मंडराने लगेगा।

किन जिलों में कब होगी बारिश ?

आज यानी मंगलवार(13 फरवरी) से पुरुलिया, बांकुड़ा, बीरभूम और पश्चिम बर्दवान में हल्की बारिश हो सकती है। इस दौरान आसमान में बादल छाए रहेंगे। मौसम विभाग के अनुसार इन इलाकों में हल्की हवाएं भी चलेंगी। इसके साथ ही इन 4 जिलों में बिजली गिरने की भी चेतावनी जारी की है। बुधवार यानी 14 फरवरी को पुरुलिया, बांकुरा, बीरभूम और पश्चिम बर्दवान में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। जबकि 30 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती है। वहीं, पूर्वी बर्दवान, नदिया, मुर्शिदाबाद और झाड़ग्राम में गरज के साथ हल्की बारिश होने की संभावना है।

बसंत पंचमी पर कोलकाता में कैसा रहेगा मौसम ?

सरस्वती पूजा के दिन कोलकाता समेत दक्षिण बंगाल के अन्य जिलों में छिटपुट बारिश की संभावना है। गुरुवार यानी 15 फरवरी को दक्षिण बंगाल में बारिश हो सकती है। वहीं, कोलकाता समेत सभी जिलों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है।

शुक्रवार से बढ़ेगा तापमान 

शुक्रवार से दक्षिण बंगाल में फिर से मौसम में सुधार होगा। वहीं, उत्तर बंगाल में भी तापमान बढ़ने लगेगा। जिसके बाद ठंड में कमी देखने को मिलेगी। बता दें कि अगले 2-3 दिनों में तापमान 3 डिग्री तक बढ़ सकता है। कोहरे की बात करें तो कल से कोहरा भी कम होने की संभावना है। मौसम साफ रहेगा।

Visited 46 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

वर्क आउट के दौरान नो लाउड म्यूजिक

एक्सरसाइज करते समय ज्यादातर यंगस्टर्स लाउड म्यूजिक सुनना पसंद करते हैं। पार्क हो या जिम सेंटर, दोनों जगह पर म्यूजिक के साथ वर्क आउट एंज्वॉय आगे पढ़ें »

सोमवार को विधि-विधान से करें भगवान शिव की पूजा, 4 बातों का रखे …

कोलकाता : हिंदू धर्म में भगवान शिव की पूजा का बहुत महत्व है। शास्त्रों के अनुसार, भगवान शिव जितने भोले हैं, उतने ही गुस्‍से वाले आगे पढ़ें »

ऊपर