एक परिवार की तरह लड़ेंगे भाजपा से : ममता

शेयर करे

ममता मिलीं नितिश, लालू, राबड़ी व तेजस्वी से
सन्मार्ग संवाददाता
पटना/कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विपक्ष की बैठक से एक दिन पहले गुरुवार को कहा कि विपक्ष के प्रमुख नेता यहां एकत्र हो रहे हैं ताकि भाजपा के खिलाफ एक परिवार की तरह एकजुट होकर लड़ा जाए। आज यानी शुक्रवार को होने वाली विपक्षी दलों की बैठक के लिए ममता बनर्जी गुरुवार को पटना पहुंचीं। उनके साथ तृणमूल कांग्रेस के महासचिव अभिषेक बनर्जी व राज्य के मंत्री फिरहाद हकीम भी पटना पहुंचे। इस दौरान मुख्यमंत्री ममता बन​र्जी ने कहा, ‘हम यहां आए हैं क्योंकि हम एक परिवार की तरह मिलकर लड़ेंगे।’ पटना पहुंचने के बाद ममता बनर्जी ने राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव, बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से मुलाकात की। मुख्यमंत्री इस दौरान पश्चिम बंगाल में कांग्रेस के वाममोर्चा के साथ समझौते और आम आदमी पार्टी द्वारा दिल्ली में सरकार को नियंत्रित करने के मुद्दे पर ऑर्डिनेंस के खिलाफ समर्थन नहीं मिलने पर ‘वॉकआउट’ के सवालों पर चुप रहीं। उन्होंने कहा, ‘आज की बैठक में क्या होगा, इस पर मैं कुछ नहीं कह सकती। हालांकि इस पर मैं आश्वस्त हूं कि हम सब यहां भाजपा के खिलाफ एक परिवार की तरह लड़ने के लिये एकजुट हुए हैं।’ पटना में बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के घर के सामने मीडिया को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा, ‘लालू जी के प्रति मेरा काफी सम्मान है। उन्हें जेल भेज दिया गया और काफी समय उन्हें अस्पताल में बिताना पड़ा।’ आरजेडी प्रमुख के साथ अपनी याद साझा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘एक बार जब हम दोनों लालू जी और मैं सांसद थे, लालू जी सब्जियों, आलू, प्याज आदि की महंगाई को लेकर संसद के फ्लोर पर बैठे हुए थे। मैं उठी और पूछा कि राबड़ी (मिठाई) की कीमत का क्या हाल है। लालू जी ने ​जवाब दिया कि राबड़ी सबसे कीमती है।’ सीएम ने कहा कि वह लालू जी से मिलकर काफी खुश हैं। उन्होंने कहा, ‘भाजपा के खिलाफ लड़ने के लिये अभी लालू जी में काफी ताकत है।’
यहां उल्लेखनीय है कि 2024 के लोकसभा चुनाव पर सबकी नजर है। आज मोदी विरोधी मेगा मीटिंग पर सबकी निगाहें टिकी रहेंगी। लोकसभा चुनाव में भाजपा को हटाने के लिये विरोधी पार्टियों को एकजुट होने की अपील सीएम ममता बनर्जी ने की है। ऐसे में राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि ममता बनर्जी की उपस्थिति में इस बैठक की अहमियत और बढ़ गयी है। वहीं अभिषेक बनर्जी को बैठक में साथ रखने का मतलब राष्ट्रीय राजनीति में उनका महत्व और बढ़ाना है। भाजपा को हराने के लिये क्या रणनीति बनायी जायेगी, क्या गैर भाजपाई नेता यूपीए-3 बनाने के लक्ष्य की ओर बढ़ रहे हैं, इसे लेकर चर्चा जोरों पर है।

Visited 144 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

कोलकाता : देवों के देव शिव शंभू, शिव शंकर साल का सबसे प्रिय माह श्रावण मास माना जाता है। इस
तीसरे सेमेस्टर की परीक्षा सितंबर और चौथे सेमेस्टर की परीक्षा मार्च में कोलकाता : 12 साल बाद उच्च माध्यमिक के
हावड़ा : तीन युवकों पर शनिवार को 12 साल की बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म कर उसे दफनाने का आरोप लगा
कल मुहर्रम पर महानगर में सुरक्षा चाक-चौबंद, ट्रैफिक होगी प्रभावित करीब 4 हजार पुलिस कर्मी रहेंगे तैनात कल शहर में
कोलकाता : 6 दोस्त मंदारमणि की यात्रा पर गए थे। सभी लोग समुद्र में स्नान करने गये। तभी 2 लोगों
रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया हुई शुरू कोलकाता : माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कक्षा 9 की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू करने जा रहा है। इसे
एक नजर प्याज : 50 रु. प्रति किलो टमाटर : 100 रु. प्रति किलो कोलकाता : पश्चिम बंगाल टास्क फोर्स
संजय मुखर्जी को बनाया गया डीजी दमकल कोलकाता : लोकसभा चुनाव और विधानसभा के उपचुनाव खत्म होते ही एक बार
कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश के बाद ईबी व टास्क फोर्स द्वारा मिलकर महानगर के विभिन्न बाजारों में
कोलकाता : कोलकाता में सोमवार को भगवान जगन्नाथ के 53वां उल्टा रथयात्रा का आयोजन किया गया। इस्कॉन कोलकाता के सौजन्य
कोलकाता : महानगर व आसपास क्षेत्रों के 19 अहम ब्रिज और फ्लाईओवर की मरम्मत की जायेगी। केएमडीए ने इसकी तालिका
कोलकाता : राज्य के मोटर ट्रेनिंग स्कूलों पर परिवहन विभाग द्वारा नकेल कसी जाने के लिये कई अहम कदम उठाये
ऊपर