अंतरिक्ष में हो गया ग़ज़ब !

शेयर करे

नासा के हबल टेलीस्कोप ने अंतरिक्ष में एक हैरान करने वाली घटना देखी है। वैज्ञानिकों ने पाया कि एक ग्रह जो अपने तारे की परिक्रमा कर रहा था, उसका वातावरण अचानक गायब हो गया। वैज्ञानिक मान रहे हैं कि यह तारे से निकले रेडिएशन के कारण हुआ है। यह ग्रह प्रणाली हमारे सौरमंडल के बाहर है।
हबल स्पेस टेलीस्कोप ने सौरमंडल के बाहर के एक नजदीक के ग्रह को देखा है। इस दौरान एक हैरान करने वाली घटना देखने को मिली। हबल ने पाया कि इस ग्रह का वायुमंडल उसके सूर्य से निकले धमाके के कारण नष्ट हो गया। यह घटना दिखाती है कि एक तारा कितना खतरनाक हो सकता है। पिछली बार जब हबल ने इस ग्रह को देखा था तब इसमें कुछ भी अलग नहीं दिखा था। यह एक लाल बौना तारा है, जिसे एयू माइक्रोस्कोपी या एयू माइक कहा जाता, जो सौरमंडल से बाहर 32 प्रकाश वर्ष दूर स्थित होता है। खगोलीय घटनाओं में 32 प्रकाश वर्ष बेहद कम दूरी मानी जाती है। नासा वैज्ञानिकों ने अब तक जिन ग्रह प्रणालियों को खोजा है, यह उनमें से सबसे युवा है। यह तारा 10 करोड़ वर्ष से भी छोटा है। जो हमारी पृथ्वी के 4.6 अरब वर्ष पुराने सूर्य की आयु में एक छोटा अंश है। इस ग्रह प्रणाली को नासा के स्पिट्जर स्पेस टेलीस्कोप और ट्रांजिटिंग एक्सोप्लैनेट सर्वे सैटेलाइट ने 2020 में खोजा था। टेलीस्कोप इस तारे को देख रहे थे, तब उन्होंने इसके प्रकाश में गिरावट देखी। ऐसे में उन्हें पता चला कि उसके सामने से एक गैसीय ग्रह गुजरा है।
वातावरण ही खत्म हो गया
इस ग्रह का नाम एयू माइक बी रखा गया, जिसे बाद में हबल टेलीस्कोप ने देखा। हबल टेलीस्कोप ने पाया कि यह 8.46 दिन में अपने तारे का एक चक्कर पूरा करता है। इस दौरान सबकुछ सामान्य लग रहा था। अब जब टेलिस्कोप ने इस ग्रह प्रणाली को एक बार फिर देखा तो वैज्ञानिक हैरान हो गए। वैज्ञानिकों ने पाया कि यह ग्रह अपने सूर्य के रेडिएशन का खामियाजा भुगत रहा है। सूर्य के धमाके इस ग्रह के हाइड्रोजन वातावरण को वाष्पित कर रहे हैं। इस सिस्टम में अभी तक दो ग्रहों का पता चला है।
विज्ञानियों ने क्या कहा
ग्रह के वायुमंडल के नष्ट होने से जुड़ा अध्ययन द एस्ट्रोनॉमिकल जर्नल में प्रकाशित होगा। इस अध्ययन लेखक केघली रॉकक्लिफ ने कहा, ‘हमने कभी नहीं देखा कि जब किसी ग्रह का वायुमंडल अचानक इतना गायब हो जाए कि उसका पता ही न चल सके।’ उन्होंने आगे कहा, ‘हमें इसके बेहतर होने की उम्मीद थी, लेकिन यह अजीब निकला। जब मैंने पहली बार इसे देखा तो मैं मान ही नहीं सका।’ लाल बौने हमारी आकाशगंगा में सबसे आम तौर पर मिलने वाले तारे हैं।

Visited 127 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

कोलकाता : कोलकाता नगर निगम के मेयर फिरहाद हकीम ने हुक्का बार बंद नहीं करने के हाईकोर्ट के फैसले पर
लू और अत्यधिक उमस भरी गर्मी के कारण लोगों का घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। कोलकाता :
कोलकाता : निर्जला एकादशी साल की सबसे बड़ी एकादशी के रूप में जानी जाती है। इस बार निर्जला एकादशी 18
नई दिल्ली: नीट पेपर लीक मामले में केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बड़ा बयान दिया है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी
कोलकाता : पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी को रविवार सुबह कोलकाता के एक निजी हॉस्पिटल
रूफटॉप रेस्तरां पर फायर रेस्क्यू की जगह जरूरी छत को नहीं किया जा सकता है दखल, माना जायेगा कॉमन एरिया
नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज नई दिल्ली के नॉर्थ
कोलकाता: बंगाल के दक्षिणी हिस्सों में गर्मी चरम पर है। सुबह-शाम उमस और तेज धूप के कारण लोगों का घरों
कोलकाता : पापा, डैड, डैडी, बाबा, अब्बू, अप्पा। भाषा कोई भी हो लेकिन एक पिता की भूमिका को किसी के
बकरीद पर ब्लू लाइन में 214 और ग्रीन लाइन-1 में 90 मेट्रो सेवाएं होंगी उपलब्‍ध कोलकाता : बकरीद के अवसर
कोलकाता: दक्षिण बंगाल में अगले चार से पांच दिनों में मॉनसून प्रवेश करेगा। मौसम विभाग ने बंगाल में मानसून को लेकर
कोलकाता : बेलघरिया के रथतल्ला मोड़ के पास चलती कार पर गोलीबारी की गई है। व्यवसाई अजय मंडल को लक्ष्य
ऊपर