जगन्नाथ मंदिर में नया ड्रेस कोड हुआ लागू, नहीं मिलेगी इन कपड़ों में एंट्री

पुरी: ओडिशा के पुरी स्थित जगन्नाथ मंदिर ने आज यानी नये साल से श्रद्धालुओं के लिए नया ड्रेस कोड लागू कर दिया है। मंदिर प्रशासन ने 12वीं सदी के इस धार्मिक स्थल में निक्कर, फटी जींस, स्कर्ट और बिना आस्तीन वाले कपड़े पहनकर आने वाले श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगा दी है। उनके लिए ड्रेस कोड अनिवार्य कर दिया है। मंदिर प्रशासन ने मंदिर परिसर में गुटखा और पान खाने, प्लास्टिक और पॉलिथीन का इस्तेमाल करने पर भी पूरी तरह से रोक लगा दी है।

क्या है नया ड्रेस कोड ?

श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (SJTA) के एक अधिकारी ने बताया कि श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश करने के लिए शालीन वस्त्र पहनने होंगे। हाफ पैंट, निक्कर, फटी हुई जींस, स्कर्ट और बिना आस्तीन के कपड़े पहनने वाले श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इस नियम के लागू होने से 2024 के पहले दिन मंदिर आ रहे पुरुष श्रद्धालुओं को धोती और तौलिया पहने हुए देखा गया और महिलाएं साड़ी या सलवार कमीज में नजर आईं। मंदिर प्रशासन ने पहले इस संबंध में एक आदेश जारी किया था और पुलिस से इन पाबंदियों को लागू करने के लिए कहा था।

नये साल पर श्रद्धालुओं की भीड़

नव वर्ष के दिन भगवान जगन्नाथ के दर्शन करने के लिए पुरी में श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ पड़ा। मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिए फिर से खोले गए जो देर रात एक बज कर 40 मिनट से ही ग्रांड रोड पर कतार में खड़े हो गए थे। पुरी पुलिस ने सोशल मीडिया मंच एक्स पर एक पोस्ट में कहा कि सोमवार को दोपहर 12 बजे तक 1,80,000 से अधिक श्रद्धालुओं ने जगन्नाथ धाम के दर्शन किए। बिना किसी बाधा के दर्शन सुनिश्चित करने के साथ ही पुलिस दिव्यांग श्रद्धालुओं के लिए भी दर्शन की सुविधा सुनिश्चित कर रही है।

 

 

Visited 58 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

लोकसभा चुनाव: BJP ने प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी की, यहां देखें सभी के नाम

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2024 के लिए BJP ने प्रत्याशियों की लिस्ट जारी कर दी है। प्रधानमंत्री वाराणसी से चुनाव लड़ेंगे। BJP ने 195 सीटों आगे पढ़ें »

Business Idea: जानिए घर बैठे कमाई के 10 धांसू तरीके, जल्दी से करें शुरू

नई दिल्ली: आज के दौर में घर पर रहते हुए पैसे कमाना के कई ऑप्शन हैं। आज हम आपको ऐसे 10 बिजनेस के बारे में आगे पढ़ें »

ऊपर
error: Content is protected !!