पुलिस की गाड़ी बनी ‘काल’, 3 बाइक सवारों को रौंदा

जमशेदपुर: सीताराम डेरा थाना इलाके में मंगलवार देर रात पुलिस की कार ने चार लोगों को रौंद डाला। इनमें से घटनास्थल पर दो लोगों की मौत हो गई। जबकि दो अन्य लोगों का इलाज जारी है। घटना से आक्रोशित लोगों ने आरोपी कार चालक को जमकर पीटा। बताया जा रहा है कि घटना के समय कार चालक शराब के नशे में धुत था। फिलहाल पुलिस ने आरोपी चालक के खिलाफ केस दर्ज कर हिरासत में लिया है। जानकारी के अनुसार मानगो बस स्टैंड से चंदन विश्वकर्मा नाम का पुलिसकर्मी पुलिस की सरकारी गाड़ी बोलेरो लेकर सीताराम डेरा की ओर जा रहा था। रास्ते में उसने तीन बाइक सवारों को बारी-बारी से टक्कर मार दिया। इसके बाद वह गाड़ी लहराकर चलाने लगा। इसे देखकर आक्रोशित लोगों ने बड़ी मुश्किल से घेराबंदी कर कार चालक को रोका और उतार पिटाई शुरू कर दी।

तीन बाइक पर सवार 4 लोगों में से 2 की मौत

सूचना मिलने पर सीताराम डेरा थाने से पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी पुलिसकर्मी चंदन विश्वकर्मा को लोगों के चंगुल से छुड़ाया। पुलिस ने बताया कि इस घटना के वक्त आरोपी पुलिसकर्मी नशे में धुता था। उसे हिरासत में लिया गया है। वहीं तीनों बाइक पर सवार चारों लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने दो लोगों को मृत घोषित कर दिया है। जबकि बाकी दो लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है।

पुलिस ने बताया कि आरोपी जवान सरकारी गाड़ी से अपने किसी साथी को जमशेदपुर के मानगो बस स्टैंड छोड़ने आया था। यहां बस स्टैंड पर ही उसने शराब पी लिया और वापस लौटते समय भुइयां डीह चौक के पास पहले एक बुलेट सवार को टक्कर मारी और फिर यहां से भागते हुए एक पल्सर और एक स्प्लेंडर बाइक में टक्कर मार दी। इन तीनों बाइकों को टक्कर मारने के बाद भी गाड़ी नियंत्रित नहीं हुई और आगे जाकर नाले में घुस गई। जहां स्थानीय लोगों ने उसे दबोच लिया।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

बदलते मौसम में शरीर में एनर्जी की लगती है कमी ? इन बातों का रखें ध्यान

कोलकाता:  दिसंबर का महिना आ गया है। धीरे-धीरे ठंड भी बढ़ रही है। ऐसे समय में बदलते मौसम के कारण शरीर में एनर्जी की कमी आगे पढ़ें »

आज देश के पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद की जयंती, इस तरह से गुजरा आखिरी समय

नई दिल्ली: देश के पहले राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद की आज(3 दिसंबर)  जयंती है। उनका जन्म बंगाल प्रेसीडेंसी में जेरादेई में 03 दिसंबर 1884 को हुआ आगे पढ़ें »

ऊपर