अमेरिका में और अस्पतालों में पहुंच रहा है कोविड टीका

वाशिंगटन : कोविड-19 से मरने वालों की संख्या तीन लाख के पार जाने के बीच अमेरिका में टीकाकरण शुरु हो गया है। कोरोना महामारी से बचाव के लिए स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाने के क्रम में मंगलवार को देश के और अस्पताल कर्मियों को टीका देंगे। दूसरी ओर, संघीय स्वास्थ्य अधिकारी दूसरी कंपनी के टीके की समीक्षा कर रहे हैं। फाइजर-बायोएनटेक कंपनी के टीके को अत्यंत निम्न तापमान में रखने के लिए ड्राइआइस में पैक किया जा रहा है। टीके की खेप 400 अतिरिक्त अस्पतालों और अन्य वितरण स्थलों पर पहुंचने को तैयार है।

किसको मिलेगा पहला खुराक

अमेरिका में शुरुआती 30 लाख खुराकों अग्रिम मोर्चे पर सेवारत स्वास्थ्य कर्मियों एवं बुजुर्ग मरीजों के लिए आवंटित किया गया है। अधिकतर अमेरिकियों को जानलेवा संक्रमण से बचाने के लिए आने वाले महीनों में टीके की लाखों खुराकों की जरूरत होगी।

मॉडर्ना को भी शामिल करने की योजना

खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) कोविड-19 के दूसरे टीके को लेकर अपना अध्ययन प्रकाशित करने के भी तैयारी कर रहा है। मॉडर्ना ने यह टीका बनाया है और बृहस्पतिवार को एफडीए ने इस टीके को हरी झंडी दिखा दी तो इस टीके को भी टीकाकरण अभियान में शामिल किया जाएगा। बहरहाल, पहले टीके ने डॉक्टरों, नर्सों और अस्पताल के कर्मियों में उत्साह भरा है।

फ्लोरिडा में टीकाकरण शुरु

फ्लाइट नर्स का काम करने वाले 43 वर्षीय जॉनी पीपल्स को मिशिगन मेडिकल केयर सेंटर में सोमवार दोपहर को टीका दिया गया। वह यह टीका लेने वाले पहले शख्स बने हैं। फ्लोरिडा में सरकारी अधिकारियों को उम्मीद है राज्य के पांच अस्पतालों को मंगलवार तक टीके की एक लाख खुराकें मिलेंगी। वहीं, न्यूजर्सी में भी मंगलवार से टीकाकरण अभियान शुरू होने की उम्मीद है जहां 76000 खुराक स्वास्थ्य कर्मियों और नर्सिंग होम के कर्मियों में वितरित किया जा रहा है।

क्या है टीके का साइड-इफैक्ट

अमेरिकी अधिकारियों ने दोहराया है कि दिसंबर अंत तक दो करोड़ अमेरिकियों को टीके की पहली खुराक दे दी जाएगी और जनवरी में तीन करोड़ और लोगों को टीका लगाया जाएगा। पिछले महीने 30,000 लोगों पर किए अध्ययन के आधार पर यह दावा किया गया था कि मॉडर्ना और एनआईएच टीका 95 फीसदी तक असरदार दिखता है। टीके की दूसरी खुराक के बाद मुख्य दुष्प्रभावों में थकान, मांसपेशियों में दर्द, इंजेक्शन लगने वाली जगह पर दर्द शामिल है। कई टीकों में फ्लू जैसी प्रतिक्रिया सामान्य है और यह इस बात का संकेत होता है कि टीका रोग प्रतिरोधक प्रणाली को वायरस से लड़ने के लिए सक्रिय कर रहा है। वहीं, मॉडर्ना ने अपने अध्ययन में किसी अहम सुरक्षा समस्या का उल्लेख नहीं किया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राजीव हमेशा जनता के साथ थे, मेरा समर्थन उनके साथ रहेगा : रुद्रनील

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राजीव बनर्जी के इस्तीफे को लेकर तृणमूल नेता रुद्रनील घोष ने कहा कि वह हमेशा से ही जनता के साथ खड़े रहे आगे पढ़ें »

सड़क दुर्घटना में युवा पत्रकार की मौत

कोलकाता : महानगर में देर रात हुई सड़क दुर्घटना में एक युवा पत्रकार की मौत हो गई। लेक थाने के अंतर्गत लॉर्ड्स मोड़ के निकट आगे पढ़ें »

ऊपर