‘हर जगह, हर किसी’ को टीका हो उपलब्ध

– संयुक्त राष्ट्र प्रमुख का सभी देशों के लिए कोविड-19 टीके की जरूरत पर जोर

बर्लिन : संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने शुक्रवार को टीकाकरण की आवश्यकता को उजागर करते हुए कहा कि धनवान देशों को अपने नागरिकों के लिए कोरोना वायरस के टीकाकरण की शुरुआत के साथ यह भी सुनिश्चित करना होगा कि ‘हर जगह, हर किसी’ को यह सुविधा उपलब्ध हो।

टीके को सार्वजनिक संसाधन बनाना चुनौतीपूर्ण

जर्मनी की संसद में अपने संबोधन में अंतोनियो गुतारेस ने जर्मन कंपनी बायोएनटेक के अनुसंधानकर्ताओं की प्रशंसा की जिन्होंने अमेरिकी कंपनी फाइजर के साथ हाथ मिलाया है और पहले पूरी तरह सत्यापित टीके को बाजार में उतारने की दौड़ में प्रतिद्वंद्वियों को पीछे छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जर्मन को उनकी उपलब्धियों पर बहुत गर्व होना चाहिए। गुतारेस ने कहा, ‘हमारी चुनौती अब यह सुनिश्चित करना है कि टीके सार्वजनिक संसाधन की तरह उपलब्ध हों, हर जगह और हर किसी को किफायती दर पर उपलब्ध हों।’ उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ऐसे समाचार और सलाह देने के लिए भी प्रतिबद्ध है जिन पर लोग भरोसा कर सकते हैं।

जर्मन चैंसलर की भी प्रशंसा की

गुतारेस ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ‘भ्रामक सूचनाओं के वायरस’ से लड़ने के लिए ‘विज्ञान द्वारा निर्देशित और तथ्यों पर आधारित’ टीके को लेकर भरोसा निर्माण करने के लिए काम कर रहा है। उन्होंने जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल की भी प्रशंसा करते हुए कहा कि दयापूर्ण और विवेकपूर्ण सोच के साथ जर्मनी को महामारी से निकालने के लिए काम किया गया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राजीव कैबिनेट में अपनी बात रखते तो बेहतर होता : सौगत

कोलकाता : राजीव बनर्जी के कैबिनेट से इस्तीफे को लेकर तृणमूल सांसद सौगत रॉय ने कहा कि राजीव की जो भी समस्या थी वह उन्हें आगे पढ़ें »

गोलगप्पों के हैं शौकीन, तो हो जाएं सावधान, जानें इसको खाने के नुकसान

नई दिल्ली: गोलगप्पे खाना किसे पसंद नहीं होता। कई लोगों के मुंह में गोलगप्पे की बात सुनकर ही पानी आ जाता है। कई लोग गोलगप्पे आगे पढ़ें »

ऊपर