यूएन ने दी भारत को चेतावनी, जलवायु परिवर्तन से है खतरा

Antonio Guterres

बैंकॉक : संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने भारत को जलवायु परिवर्तन के खतरों के बारे में चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन के कारण समुद्रों का जलस्तर अनुमान से भी ज्यादा तेज गति से बढ़ता जा रहा है। इस परिवर्तन के चलते सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले देशों में भारत, जापान, चीन और बंग्लादेश शामिल हैं। थाईलैंड के बैंकॉक में सोमवार को आसियान समिट के दौरान गुटेरेस ने बताया कि जलवायु परिवर्तन के प्रभाव स्वरूप होने वाले बदलाव जितनी तेजी से हो रहे हैं उसके मुकाबले सरकारों द्वारा इसे रोकने के लिए किए जा रहे प्रयास धीमे नजर आ रहे हैं।

पूरी तरह डूब सकती है मुंबई

हाल ही में जारी हुई विज्ञान संगठन क्लाइमेट सेंट्रल की रिपोर्ट का हवाला देते हुए गुटेरेस ने भारत समेत अन्य देशों को यह चेतावनी दी है। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि समुद्र का बढ़ता जलस्तर 2050 तक पूर्व अनुमानित आंकड़े से तीन गुना अधिक आबादी (डेढ़ अरब लोगों) को प्रभावित कर सकता है। इसके कारण भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई के पूरी तरह डूब जाने का खतरा है। यूएन महासचिव के अनुसार इस समय पृथ्वी के लिए सबसे बड़ा खतरा जलवायु परिवर्तन है। और जब तक सभी एकजुट होकर इसके खिलाफ नहीं लड़ेंगे तब तक यह खतरा बना रहेगा।

इसके साथ ही गुटेरेस ने कहा, “वैज्ञानिकों द्वारा यह बताया जा चुका है कि पृथ्वी के बढ़ते तापमान को रोकने के लिए पूरी दुनिया को एकजुट होना होगा और 2050 तक कार्बन न्यूट्रल बनना होगा। इसके लिए अगले दशक में हमें कार्बन उत्सर्जन को कम कर 45 प्रतिशत तक लाना होगा।”

राजनीतिक इच्छाशक्ति की है आवश्यकता

यूएन महासचिव ने कहा, “इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए राजनीतिक इच्छाशक्ति की आवश्यकता है। इसके लिए देशों को कार्बन का इस्तेमाल रोकना होगा। इसके साथ ही जीवाश्म ईधन पर दी गयी सब्सिडी पर भी रोक लगानी होगी। हमें कोयले से चलाए जाने वाले पावर प्लांट को भी बंद करना होगा।”

“एशिया के लिए यह मुद्दा महत्वपूर्ण है, क्योंकि पूर्वी, दक्षिण-पूर्वी और दक्षिण एशिया में कोयले से चलने वाले नए पावर प्लांट्स को भविष्य के तौर पर देखा जा रहा है। जिन देशों पर जलवायु परिवर्तन का खतरा मंडरा रहा है, उन्हें कोयले की आवश्यकता को समाप्त करना होगा।”

शेयर करें

मुख्य समाचार

रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप ने आज 9.5 लाख करोड़ रुपये के स्तर को छूआ

नई दिल्ली : रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप ने आज 9.5 लाख करोड़ रुपये के स्तर को छू लिया है और मुकेश अंबानी की रिलायंस आगे पढ़ें »

Hongkong protest

हाॅन्गकॉन्ग के संवैधानिक मामलों में परिवर्तन का अधिकार केवल हमारा-चीन

बीजिंग : हॉन्गकॉन्ग में जून महीने से प्रदर्शन जारी है। वहां चीन के शासन में स्वतंत्रता खत्म किए जाने के खिलाफ जनता अपने गुस्से को आगे पढ़ें »

ऊपर