शादी करने और बच्चा पैदा करने पर ये प्रांत देगा स्पेशल लोन

नई दिल्ली : सबसे तेजी से कम होती आबादी वाला चीन का जिलिन प्रांत कपल को शादी करने और बच्चे पैदा करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए स्पेशल लोन दे रहा है। बता दें चीन में बुजुर्गों की बढ़ती आबादी के साथ जन्म दर भी घट रही है। इससे निपटने के लिए चीन सरकार ने परिवार नियोजन में भी ढील दिया है। जनसंख्या वृद्धि को बढ़ावा देने के लिए नीतियों पर एक आधिकारिक खाका के मुताबिक, जिलिन प्रांत शादीशुदा कपल को ‘शादी और जन्म उपभोक्ता ऋण’ के लिए 200,000 युआन यानी 31,400 डॉलर यानी 23,55,942 रुपये तक प्रदान करने के लिए बैंकों को सपोर्ट करेगा।
ब्याज दर में रियायत दी गई है
हालांकि, इस बारे में अभी डिटेल सामने नहीं आई है कि सरकार कैसे ये सहायता मुहैया कराएगी, लेकिन प्रस्ताव में लोन के लिए ब्याज दर में रियायत दी गई है, जो कि कपल के पास कितने बच्चे हैं इस पर निर्भर करेगा।
लोगों के पास कम से कम बच्चे हैं
पिछले कुछ सालों में चीन में जन्म दर की रफ्तार तेजी से धीमी हुई है, क्योंकि ज्यादातर लोगों के पास कम से कम बच्चे हैं। सरकार की ओर से कपल के बच्चों की संख्या पर ढील देने और परिवार पालने के लिए, इसे कम खर्चीला बनाने के बावजूद कई कपल और बच्चे पैदा करने में रुचि नहीं ले रहे हैं। अमुमान है कि पहले से ही जनसंख्या सिमटने लगी है।
अन्य प्रांत के कपल के लिए ये छूट
जिलिन प्रांत की नीति में ये भी है कि अन्य प्रांत के कपल यहां का रेजिडेंट परमिट प्राप्त कर सकते हैं और सार्वजनिक सेवाओं का लाभ ले सकते हैं। अगर कपल के बच्चे हैं, तो यहां उन्हें पंजीकृत कराना होगा। जिन कपल के पास दो या तीन बच्चे हैं उन्हें भी टैक्स में छूट मिलेगी, अगर वे एक छोटा बिजनेस शुरू करते हैं। जिलिन चीन के ‘रस्ट बेल्ट’ क्षेत्र का हिस्सा है, जो भारी उद्योग और कृषि के लिए जाना जाता है। इस क्षेत्र में पिछले एक दशक से सबसे ज्यादा जनसंख्या गिरावट और धीमी आर्थिक वृद्धि देखी गई है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

देगंगा में एक ही रात 5 घरों में चोरी से मचा हड़कंप

बारासात : बारासात अंचल के देगंगा थाना अंतर्गत पूर्व चांगदान इलाके में एक ही रात 5 घरों में चोरी होने से हड़कंप मच गया। मिली आगे पढ़ें »

ऊपर