फैला चूहों का आतंक, मल साफ करने में लोग बिता रहे हैं 6-6 घंटे

आस्ट्रेलिया : अलमारी खोलिए…चूहा दिखेगा। सड़क पर चूहों की कतारें। खेतों, घरों, गराज हर जगह सिर्फ चूहे ही चूहे हो गए हैं। इतना ही नहीं, इससे ज्यादा बुरी स्थिति उन लोगों की हैं, जिनके घरों में चूहों का आतंक फैला हुआ है। चूहों का मल साफ करने में लोगों को छह-छह घंटे लग रहे हैं। ये सच्चाई है ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी इलाके की। यहां पर चूहों का आतंक बहुत ज्यादा फैल गया है। सबसे बुरी हालत क्वींसलैंड और न्यू साउथ वेल्स की है। ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड और न्यू साउथ वेल्स में तो चूहों की इतनी ज्यादा संख्या हो गई है कि लोगों और प्रशासन के हाथ-पैर फूल गए हैं। किसानों, दुकानदारों और गृहणियों के लिए यह एक बड़ी समस्या बन गए हैं। किसान तो इसे चूहों का प्लेग कह रहे हैं। क्योंकि कई दशकों से चूहों की इतनी ज्यादा आबादी यहां के स्थानीय लोगों ने नहीं देखी है। कुछ किसानों की तो पूरी फसल चूहों ने खराब कर दी है। स्थानीय मीडिया के मुताबिक क्वींसलैंड और न्यू साउथ वेल्स के कई होटल बंद कर दिए गए हैं। राशन की दुकानों पर काम करने वालों का कहना है कि वो एक-एक रात में 600 चूहों को पकड़ते हैं। इसके अलावा द गार्जियन की खबर के मुताबिक अब तक तीन लोग चूहों के काटने की वजह से अस्पताल जा चुके हैं। ऑस्ट्रेलिया की राष्ट्रीय साइंस एजेंसी सीएसआइआरओ के शोधकर्ता स्टीव हेनरी ने बताया कि चूहों की ये संख्या खेतों में ज्यादा फसल पैदावार की वजह से बढ़ी है। ज्यादा पैदावार देख कर उन्हें सूंघ कर आसपास के शहरों और राज्यों से ढेर सारे चूहे इस तरफ आ गए हैं। स्टीव ने बताया कि चूहों के समय से पहले ज्यादा खाना मिल गया इसलिए अब यहां प्रजनन करके नए चूहे पैदा हो रहे हैं। आमतौर पर इस सीजन में ऐसा होता है लेकिन इस बार चूहों की संख्या बहुत ज्यादा है। इसे नियंत्रित करना बेहद मुश्किल नजर आ रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बीजपुर में दिनभर रहा तनाव, तृणमूल कर्मियों की हुई पिटाई

भाजपा का भी बहा खून तृणमूल के गुंडों का आम जनता ने प्रतिरोध किया - शुभ्रांशु हताशा में आकर भाजपा ने तांडव मचाया - सुबोध सन्मार्ग संवाददाता बीजपुर : आगे पढ़ें »

बेंजेमा के दो गोल से रीयाल मैड्रिड की बड़ी जीत

मैड्रिड : यूरोप के कुछ शीर्ष क्लबों के सुपर लीग के प्रस्ताव के विरोध में कैडिज के खिलाड़ियों ने मैच से पहले इससे जुड़ी शर्ट आगे पढ़ें »

ऊपर