ताइवान की राष्ट्रपति ने कहा- देश की शांति एवं स्थिरता के लिए खतरा है चीन

taiwan

ताइपे : ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग वेन ने चीन पर धमकाने का आरोप लगाते हुए उसे क्षेत्र के लिए बड़ा खतरा बताया है। उन्होंने बृहस्पतिवार को ‘नेशनल डे’ के मौके पर कहा कि चीन ताइवान को लगातार धमका रहा है और वह क्षेत्र की शांति और स्थिरता के लिए बड़ी चुनौती बन गया है। साई की यह टिप्पणी चीन द्वारा स्वशासित द्वीप के लोकतंत्र को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलग-थलग करने की नये सिरे से कोशिश करने के बीच आई है। बता दें कि चीन ताइवान को अपना क्षेत्र बताता है और उसे अलग-थलग करने के लिए उसके शेष बचे कूटनीतिक सहयोगियों को दूर करने की कोशिश कर रहा है।

चीन अपने इस कार्यक्रम के इस्तेमाल के जरिए धमका रहा

साई ने राष्ट्रपति भवन में दिए अपने भाषण में कहा कि, चीन अपने ‘एक देश, दो तंत्र’ कार्यक्रम के इस्तेमाल के जरिए हमें लगातार धमका रहा है और सभी तरह के हमले करने के साथ ही क्षेत्र की शांति और ‌स्थिरता के लिए बड़ी चुनौती बनता जा रहा है। गौरतलब है कि साई की यह टिप्पणी हांग कांग में पिछले महीनों से हो रहे सरकार विरोधी प्रदर्शनों के मद्देनजर भी आई है।

2016 में इस वजह से चीन ने संपर्क तोड़ लिया था

बता दें कि चीन ने 2016 में साई के राष्ट्रपति बनने के साथ ही उनकी सरकार से संपर्क तोड़ लिया था क्योंकि उन्होंने द्वीप पर चीन के दावे को खारिज कर दिया था। ताइवान के बड़े कारोबारी समुदाय को चीन की तरफ आकर्षित कर साई के समर्थन को कम करने के बीजिंग के प्रयासों के बावजूद वह अगले साल होने वाले चुनावों में जीत की सबसे प्रबल दावेदार हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Twitter

ट्विटर ने कहा-विश्व के नेताओं के अकाउंट को नियमों से पूरी तरह छूट नहीं

सैनफ्रांसिस्को : ट्विटर ने कहा है कि विश्व के नेताओं को इसके उन प्रतिबंधों से पूरी तरह छूट नहीं है, जिसमें उपयोगकर्ता हिंसा की धमकी आगे पढ़ें »

Mahatma Gandhi

विश्वविद्यालय के छात्रों ने मैनचेस्टर में गांधी की मूर्ति लगाये जाने का विरोध किया

लंदन : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति लगाये जाने के प्रस्ताव के खिलाफ ब्रिटेन में मैनचेस्टर विश्वविद्यालय के छात्रों ने ‘मैनचेस्टर कैथेड्रल’ के बाहर एक आगे पढ़ें »

ऊपर