नॉर्वे की मस्जिद में हुई गोलीबारी, हमलावर गिरफ्तार

Shootout in Norway mosque, attacker arrested

ओस्लो : नॉर्वे की राजधानी ओस्लो के पास शनिवार को कई हथियारों से लैस एक हमलावर ने एक मस्जिद में गोलीबारी की। फायरिंग की इस घटना में एक व्यक्ति घायल हो गया। नॉर्वे पुलिस और प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार गोलीबारी करने वाले हमलावर को एक उम्रदराज व्यक्ति ने काबू में कर लिया जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।
हमलावर ने बुलेटप्रूफ जैकेट पहन रखी थी
पुलिस ने बताया कि हमले के कुछ घंटों बाद बेइरम उपनगर में एक घर से संदिग्ध हमलावर की परिचित एक युवती का शव मिला। बेयरम में ही गोलीबारी हुई थी। जांचकर्ताओं ने युवती की मौत के संबंध में जांच शुरू कर दी है। वहीं मस्जिद के इमाम इरफान मुश्ताक ने हमलावर को श्वेत युवक बताया जिसने काले कपड़े पहने हुए थे और उसने एक हेलमेट तथा बुलेटप्रूफ जैकेट भी पहन रखी थी। उन्होंने बताया कि हमले के समय अल नूर इस्लामिक केंद्र में केवल तीन लोग ही मौजूद थे। मुश्ताक की मानें तो बंदूकधारी को काबू करने वाले व्यक्ति की उम्र 75 वर्ष है और वह नमाज के बाद कुरान पढ़ रहा था।
रूसी दूतावास ने बयान जारी किया
नॉर्वे में स्थित रूस दूतावास ने रविवार को कहा है कि ओस्लो में मस्जिद के पास हुई गोलीबारी में रूस के किसी नागिरक का हाथ नहीं है। रूसी दूतावास ने सोशल मीडिया पर  बयान जारी करते हुए कहा, ‘‘आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक बेयरम में मस्जिद में हुई गोलीबारी में रूस के किसी नागिरक का हाथ नहीं है और इस हादसे में रूस के किसी भी नागिरक को नुकसान नहीं पहुंचा है।’’
पुलिस ने हमलावर को बताया नार्वे का युवक
बता दें कि पुलिस को घटना के फौरन बाद सूचना दे दी गई। इस हमले के बारे में ओस्लो पुलिस के प्रवक्ता रुन स्जोल्ड ने शनिवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया, ‘‘यह नॉर्वे का युवक है और उसकी पृष्ठभूमि भी यहीं की है। वह पड़ोस के इलाके में ही रहता है।’’ बता दें कि यह हमला हज के समापन के मौके पर मनाई जाने वाली ईद-उल-अजहा से पहले हुआ है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जम्मू में आतंकवादी हमला एक नागरिक घायल

जम्मू : दक्षिण कश्मीर के कुलगाम इलाके के यारीपोरा बाजार में आतंकवादियों द्वारा पुलिस पार्टी पर हमला करने के बाद एक नागरिक घायल हो गया। आगे पढ़ें »

तब्लीगी से जुड़े 960 विदेशियों के 10 साल तक भारत आने पर लगा प्रतिबंध : सूत्र

नयी दिल्ली : सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार तब्लीगी जमात की गतिविधियों में शामिल 960 विदेशियों के भारत आने पर 10 साल तक सरकार आगे पढ़ें »

ऊपर