फिनलैंड की सना मारिन बनीं विश्व की सबसे युवा प्रधानमंत्री

हेलसिंकी : फिनलैंड में 34 वर्षीय सना मारिन को प्रधानमंत्री के पद के लिए चुन लिया गया है। इसके साथ ही वे देश्‍ा के इतिहास में सबसे युवा प्रधानमंत्री बन गई हैं। देश की सोशल डेमोक्रेट पार्टी ने प्रधानमंत्री पद के लिए सना का चुनाव किया। इससे पहले वे देश में बतौर परिवहन मंत्री कार्यरत रह चुकी हैं। रविवार को हुए मतदान में मारिन ने जीत हास‌िल की और वर्तनाम नेता एंटी रिने की जगह प्रधानमंत्री बनीं। बता दें कि डाक हड़ताल से निपटने को लेकर गठबंधन सहयोगी सेंटर पार्टी का ‌विश्वास खोने के बाद एंटी रिने ने मंगलवार को इस्तीफा दे दिया था।

27 की उम्र में राजनीति की शुरुआत

मारिन ने अपनी जीत के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘हमें विश्वास पाने के लिए काफी काम करना होगा।’ उन्होंने अपनी आयु से जुड़े सवालों पर कहा, मैंने अपनी उम्र या महिला होने को लेकर कभी सोचा नहीं। मेरे राजनीति में आने के पीछे कुछ कारण हैं और इन चीजों के लिए हमने मतदाताओं का विश्वास जीता। मरीन ने 27 वर्ष की आयु में अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत की और तभी से वे तेजी से आगे बढ़ती गईं।

जल्द ही नियुक्ति को मिलेगी मंजूरी

एक स्‍थानीय समाचार पत्र के अनुसार, मारिन विश्व की सबसे कम आयु की प्रधानमंत्री बन गईं हैं। युवा प्रधानमंत्रियों में उनके अलावा 39 साल के न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री जैकिंडा आर्डेन, 35 साल के यूक्रेन के प्रधानमंत्री ओलेक्सी होन्चारुक और 35 साल के उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन भी शामिल हैं।

लॉमेकर्स के मारिन और उनकी नई सरकार को जल्द ही नियुक्ति के लिए मंजूरी दिए जाने की संभावना है। ताकि वह ब्रसेल्स में 12-13 यूरोपीय संघ के नेताओं के शिखर सम्मेलन में फिनलैंड का प्रतिनिधित्व कर सकें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर