शख्स के खाते में 15 साल से बिना ‘नौकरी’ के आ रही थी सैलरी, ऐसे हुआ खुलासा

नई दिल्ली : नौकरी करने वाले लोग हमेशा सोचते हैं कि वे जितनी मेहनत से काम करते हैं उसके हिसाब से ही उनको सैलरी मिले। कई लोग अपनी सैलरी से संतुष्ट होते तो कई लोग यह इच्छा रखते हैं कि उनकी सैलरी बढ़ जाए। लेकिन इटली से एक ऐसा मामला सामने आया है जहां एक शख्स को 15 साल से बिना काम किए घर बैठे सैलरी मिल रही थी। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, यह मामला इटली का है, यहां मेडिकल विभाग में काम करने वाला शख्स बिना कोई नोटिस दिए पिछले 15 साल से अपने काम पर नहीं आ रहा था। इस पूरे मामले में चौंकाने वाली बात यह है कि इन 15 सालों में उसे हर महीने सैलरी मिलती रही, एक भी महीना ऐसा नहीं गया जब उसके खाते में पैसे ना पहुंचे हों। लेकिन जब इस मामले का खुलासा हुआ तो उस पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया है। इस मामले का खुलासा भी दिलचस्प तरीके से हुआ है। शख्स के खाते में हमेशा उसी दिन पैसे आ जाते थे जिस दिन बाकियों के खाते में आ जाते थे. यह क्रम पिछले 15 सालों से लगातार जारी था दरअसल, रिपोर्ट के मुताबिक 2005 में आरोपी का अपनी मैनेजर से किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था। उसने मैनेजर को धमकी तक दे दी थी। इसके कुछ समय बाद ही मैनेजर रिटायर हो गई। आरोपी इसी बीच ऑफिस से अनुपस्थित रहने लगा और ऐसा करते-करते 15 साल बीत गए। हाल ही में पुलिस एक दूसरे धोखाधड़ी और अनुपस्थित रहने के मामले की जांच कर रही थी, तभी इस मामले के बारे में भी जानकारी पुलिस को लग गई और मामला सामने आया। इसके बाद जब विभाग से पुलिस ने पूछताछ शुरू की तो इस मामले के एक से बढ़कर एक रहस्य सामने आए.
लिस की जांच में यह भी पाया गया कि एचआर विभाग और नई मैनेजर को भी कभी इस मामले के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है. इतना ही नहीं अन्य किसी कर्मचारी ने यह जानने की कोशिश नहीं की कि आरोपी ऑफिस क्यों नहीं आ रहा है। इस बीच उसको लगातार सैलरी मिलती रही। जांच में यह भी सामने आया है कि इस मामले में विभाग के कुछ बड़े अधिकारी भी शामिल हो सकते हैं। इसलिए पुलिस हर पहलू से जांच कर रही है। हालांकि रिपोर्ट में इस शख्स की पहचान उजागर नहीं की गई है, और ना ही उसके बारे में ज्यादा कुछ बताया गया है।
.

शेयर करें

मुख्य समाचार

सीबीआई दफ्तर पहुंचीं मुख्यमंत्री कहा- मुझे भी गिरफ्तार करो

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की सरकार बनते ही नारदा स्टिंग टेप केस की जांच फिर से शुरू हो गई है l इस आगे पढ़ें »

नारदा कांडः तो क्या मोदी-शाह के निर्देश पर हुई गिरफ्तारी

कोलकाताः नारदा कांड मामले में सीबीआई द्वारा मंत्री सुब्रत मुखर्जी, मंत्री फिरहाद हकीम, पूर्व मेयर शोभन चटर्जी और विधायक मदन मित्रा की गिरफ्तारी को लेकर आगे पढ़ें »

ऊपर