तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

russia

तल अबैयद : अमेरिकी सेनाओं के सीरिया से बाहर निकलने के बाद खाली पड़े पोस्ट को भरने के लिए रूस सक्रिय हो गया है। रूस ने सीरिया की ओर बढ़ रही तुर्की की सेनाओं को रोकने के लिए अपनी सेनाएं सीरियाई सीमा पर तैनात कर दी है। रूस के रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि सीरिया के उत्तर पश्चिम शहर मंजिब में रूस की सेनाएं तुर्की और सीरिया की सेनाओं के बीच दीवार बनकर खड़ी हो गई है और पेट्रोलिंग कर रही है। रूस की सेना के एक ओर तुर्की की आर्मी है तो दूसरी ओर सीरिया के राष्ट्रपति असद की सेना है। असद की सेना तुर्की से हमले के खिलाफ कुर्द लड़ाकों को बचाने के लिए मैदान में आ गई है। इस बावत सीरिया की सरकार और विद्रोही कुर्द लड़ाकों के बीच समझौता हुआ है।

नहीं होने देंगे युद्ध

सीरिया में रूस के राजदूत एलेक्जेंडर लावरेनतेय ने कहा है कि रूस दोनों सेनाओं के बीच किसी भी हालत में युद्ध नहीं होने देगा। रूसी सैनिकों ने पेट्रोलिंग कर रही अपनी सेनाओं के वीडियो जारी किए हैं। रूसी सेनाएं उन पोस्ट के पास मौजूद हैं, जहां कुछ ही दिन पहले अमेरिकी सेनाएं तैनात थीं। अमेरिका की सेनाएं 2017 से ही इन पोस्ट पर तैनात थी, हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा अपनी सेनाओं की वापसी के ऐलान के बाद रूस ने इन स्थानों पर अपने सैनिकों को भेजा है। सूत्रों के मुताबिक तुर्की के उपराष्ट्रपति से जब पूछा गया कि क्या उनकी सेना असद की आर्मी से युद्ध के लिए तैयार है? तो उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं लगता है कि ऐसा होगा, लेकिन हमलोग मंजिब पर कब्जा करने के लिए दृढ़ निश्चय हैं।

तुर्की के राष्ट्रपति ने बातचीत से इनकार किया

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने सीरिया में कुर्द चरमपंथियों के साथ किसी भी तरह की बातचीत करने से बुधवार को सिरे से इनकार कर दिया। एर्दोगन ने संसद में अपने संबोधन में कहा, ‘कुछ नेता हैं जो मध्यस्थता की कोशिश कर रहे हैं। तुर्क गणराज्य के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ कि शासन आंतकी संगठनों के साथ एक ही मेज पर बैठा हो।’ अमेरिका ने दोनों पक्षों से संघर्ष विराम करने को कहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता की हुंकार : नहीं होने देंगे एनआरसी

सागरदिघी (मुर्शिदाबाद) : राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर राजनीतिक बहस बढ़ती ही जा रही है। बुधवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हुंकार भरते हुए आगे पढ़ें »

डीआरआई का रेड और नोटों की बारिश

कोलकाता : महानगर के डलहौसी इलाके के बेन्टिक स्ट्रीट में बुधवार की दोपहर बाद अचानक एक कामर्शियल बिल्डिंग से नोटों की बारिश होने लगी। घटना आगे पढ़ें »

ऊपर