पहली बार सौर मंडल के बाहर के ग्रह से मिले रेडियो संकेत

वाशिंगटन : वैज्ञानिकों के अंतरराष्ट्रीय दल ने संभवत: पहली बार हमारे सौर मंडल के बाहर स्थित ग्रह से आ रहे रेडियो संकेतों का पता लगाया है। यह संकेत 51 प्रकाशवर्ष दूर स्थित ग्रह प्रणाली से आ रहे हैं। वैज्ञानिकों ने बताया कि नीदरलैंड स्थित रेडियो दूरबीन ने लो फ्रिक्वेंसी अर्रे (लोफर) का इस्तेमाल कर टाउ बूट्स तारे की प्रणाली से आ रहे रेडियों संकेतों का पता लागया है जिसके बहुत करीब गैस से बना ग्रह चक्कर लगा रहा है और जिसे कथित ‘गर्म बृहस्पति’ के नाम से भी जाना जाता है।

जर्नल ‘एस्ट्रोमी ऐंड एस्ट्रोफिजिक्स’ में प्रकाशित अनुसंधान पत्र में बताया गया कि केवल टाउ बूट्स ग्रह प्रणाली से ही निकल रहे रेडियो संकेत का पता चला है जो संभवत: ग्रह के विशेष चुंबकीय क्षेत्र की वजह से निकल रहे हैं। अनुसंधानकर्ता जेक डी टर्नर ने कहा, ‘रेडियो संकेत के जरिये हमले पहली बार सौर मंडल के बाहर ग्रह का पहला संकेत पेश किया है।’ उन्होंने कहा, ‘ये संकेत टाउ बूट्स प्रणाली से आ रहे हैं जिसमें दो तारे और ग्रह है। हमने ने ग्रह द्वारा संकेत आने का मामला पेश किया है।’

नए दुनिया को जानने का अवसर खुलेगा

अनुसंधानकर्ता ने कहा कि अगर इस ग्रह की पुष्टि बाद के अध्ययन से होती है तो रेडियो संकेतों के जरिये सौर मंडल के बाहर के ग्रहों का पता लगाने का एक नया मार्ग खुलेगा और सैकड़ों प्रकाशवर्ष दूर की दुनिया के बारे में जानने का नया तरीका मिलेगा।

टर्नर ने कहा, ‘सौर मंडल के बाहर के ग्रह पर पृथ्वी जैसा चुंबकीय क्षेत्र संभावित जीवन योग्य अवस्था में योगदान दे सकता है क्योंकि यह उसके वायुमंडल को सौर तूफान और ब्रह्मांड के घातक किरणों से बचाता है और ग्रह के वायुमंडल को नष्ट होने से भी रोकता है।’ बृहस्पति और अन्य ग्रहों से आने वाले रेडियो संकेत के नमूने ब्रह्मांड में पृथ्वी से 40 से 100 प्रकाशवर्ष दूर स्थित ग्रहों का पता लगाने में मददगार है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बागबाजार अग्निकांड : उस रात की भयानक आग जीवन में शायद कभी नहीं भूल पाऊं – सावित्री

राख ही राख - आंखों के सामने जले आशियाने को देखते रह गये आग में जल गयी सारी पूंजी, अब कौन लेना सुध प्रशासन से गुहार : आगे पढ़ें »

अप्रैल में ही विधानसभा चुनाव, डिप्टी सीईओ ने दिए संकेत

फरवरी में ही जारी हो सकती है अधिसूचना एडीजी कानून व्यवस्था, प्रशासनिक विभागीय अधिकारियों व इनफोर्समेंट डायरेक्टरेट के अधिकारियों के साथ की बैठक सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में आगे पढ़ें »

ऊपर