रूस पर लगे खेल प्रतिबंध को पुतिन ने बताया राजनीति से प्रेरित,कहा आंकड़े गलत

पेरिस : लुसाने में वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी (वाडा) की कार्यकारी समिति की बैठक में गलत आंकड़े देने के आरोप में रूस पर चार साल का प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके तहत रूस तोक्यो ओलंपिक 2020 और कतर विश्व कप 2022 में हिस्सा नहीं ले सकेगा। रूस पर लगे इस प्रतिबंध के कारण वह किसी बड़े टूर्नामेंट में शिरकत नहीं कर सकेगा। वहीं रूस को किसी टूर्नामेंट की मेजबानी का अधिकार भी नहीं होगा। वाडा के इस निर्णय पर राष्ट्रपति ब्लादीमिर पुतिन ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने इस फैसले को राजनीति से प्रेरित और ओलंपिक चार्टर के खिलाफ बताया। पुतिन ने कहा कि यह ओलिंपिक चार्टर का उल्लंघन है। रूस के पास इस निणर्य के खिलाफ अदालत जाने के कई कारण हैं। उन्होंने कहा कि रूसी ओलंपिक समिति की उपेक्षा करने का कोई कारण नहीं है। रूस अपने झंडे तले खेलों में हिस्सा लेगा।

डोप परिक्षण में पास होने वाले एथलीट्स ही खलेंगे

रूस पर लगे प्रतिबंध के मुताबिक इवेंट्स में केवल वही एथलीट्स उतरेंगे जो डोप टेस्ट में पास करेंगे। टेस्ट पास करने वाले खिलाड़ी न्यूट्रल झंडे के तले खेलेंगे। उन्हें न्यूट्रल एथलीट्स कह कर ही संबोधित किया जाएगा न कि रूस के एथलीट्स। न्यूट्रल एथलीट्स का बनाया हुआ रिकॉर्ड रूस के हिस्से में नहीं जोड़ा जाएगा। वाडा के फैसले की चुनौती देने के प्रश्न पर पुतिन ने कहा कि सर्वप्रथम हमें वाडा के इस निर्णय का विश्लेषण करने की आवश्यकता है। किस आधार पर प्रतिबंध लगाया गया है? मेरे हिसाब से वाडा को रूस ओलिंपिक राष्ट्रीय समिति से कोई शिकायत नहीं है। यदि शिकायत नहीं है तो रूस को राष्ट्रीय ध्वज के साथ हिस्सा लेने की अनुमति देनी चाहिए।

सजा व्यक्तिगत हो : पुतिन

वाडा के फैसले की कड़ी निंदा करते हुए कोई भी सजा व्यक्तिगत हाेनी चाहिए और दंड सामूहिक प्रकृति का नहीं हो सकता। दंड ऐसे लोगों को दिया जा रहा है जिन्होंने कोई गलत काम नहीं किया। सभी लोग इसे जानते हैं और समझते हैं। यह बात तो वाडा के विशेषज्ञ भी समझते हैं। जानकारी के अनुसार रूस की डोपिंग रोधी एजेंसी 21 दिनों के भीतर खेलों की सबसे बड़ी अदालत खेल पंचाट में वाडा के इस फैसले के खिलाफ अपील कर सकती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

महाराजा कमल सिंह को नीतीश कुमार ने दी श्रद्धांजलि

बक्सर : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बक्सर जिले के डुमरांव स्थित भोजपुर कोठी में देश की पहली संसद के सांसद एवं बिहार के आगे पढ़ें »

australia

ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी क्षेत्र के जंगलों में लगी आग पर नियंत्रण

सिडनीः बारिश और आंधी तूफान ने पूर्वी आस्ट्रेलिया के जंगलों में लंबे समय से लगी आग को काफी हद तक बुझा दिया है लेकिन इससे आगे पढ़ें »

ऊपर