अन्य देशों की गर्भवती महिलाओं को अमेरिका का पर्यटन वीजा मिलना हुआ मुश्किल

us

वॉशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आव्रजन के खिलाफ कड़े कदम उठाते हुए अन्य देशों से आने वाली गर्भवती महिलाओं को टेंपररी विजिटर (बी-1/बी-2) वीजा दिए जाने के नियमों में बदलाव किया है। नए नियमों के मुताबिक गर्भवती महिलाओं को केवल बच्चे को जन्म देने के उद्देश्य से अमेरिका आने के लिए पर्यटन वीजा नहीं दिया जाएगा। इस योजना पर काफी पहले से विचार किया जा रहा था। अमेरिका में ‘बर्थ टूरिजम’ पर रोक लगाने के लिए यह फैसला लिया गया है। ट्रंप प्रशासन की ओर से कहा गया है कि उनकी प्राथमिकता राष्ट्र की सुरक्षा है और इस नए नियम के बाद ‘बर्थ टूरिजम’ के जरिए आपराधिक गतिविधियों पर भी रोक लगाई जा सकेगी।

अमेरिका आने के लिए बताना होगा उचित कारण

नए नियम के तहत अन्य देश की गर्भवती महिलाएं सिर्फ अपने बच्चे को जन्म देने और उसे अमेरिकी पासपोर्ट दिलाने के मकसद से अब अमेरिकी पर्यटन वीजा हासिल नहीं कर पाएंगी। गर्भवती महिलाओं को यह वीजा तभी मिल सकेगा अगर उनके पास अमेरिका आने के‌ लिए अन्य उचित कारण मौजूद हो। ‘काउंसलर ऑफिसर’ को उचित कारण समझाने के बाद ही उन्हें वीजा दिए जाने पर विचार किया जा सकेगा। इस तरह गर्भवती मह‌िलाओं के लिए अमेरिका का पर्यटन वीजा हासिल करने की पूरी प्रक्रिया अब कठिन होने वाली है।

जन्म के साथ ही नागरिकता के अधिकार को खत्म करेगी ट्रंप सरकार

अमेरिका में ‘जन्मजात नागरिकता’ के मुद्दे पर कड़ा कदम उठाते हुए ट्रंप प्रशासन द्वारा यह निर्णय लिया गया है। दरअसल गैर अमेरिकी नागरिकों के बच्चों को अमेरिका मेें जन्म लेने के साथ ही वहां की नागरिकता मिल जाती थी लेकिन ट्रंप सरकार ने इस अधिकार को समाप्त करने के उद्देश्य से यह नया नियम लागू किया है। बता दें कि रूस और चीन जैसे देशों से कई महिलाएं बच्चे को जन्म देने के लिए अमेरिका आती हैं।

‘बर्थ टूरिजम’ के लिए विज्ञापन देती हैं अमेरिकी कंपनियां

गौरतलब है कि अमेरिका सहित कई देशों में ‘बर्थ टूरिजम’ काफी फल-फूल रहा है। इसके लिए अमेरिकी कंपनियों द्वारा विज्ञापन भी दिए जाते हैं। साथ ही ये कंपनियां पर्यटन व चिकित्सा सुविधाओं के लिए लोगों से करीब 80,000 डॉलर तक वसूलती हैं। वहीं, सेंटर फॉर इमीग्रेशन स्टडीज के अनुसार‌, 2012 में करीब 36 हजार विदेशी महिलाएं बच्चों को जन्म देने अमेरिका आईं और फिर वापस चली गईं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोरोना के रोकथाम के लिए अमेजन ने भारतीय डिलीवरी पार्टनर्स के लिए रिलीफ फंड जारी किया

नई दिल्ली : कोविड-19 महामारी भारत में फैलता जा रहा है, ऐसे में भारत में अमेजन और उसके साझेदार नेटवर्क समुदायों की मदद के लिए आगे पढ़ें »

देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 547 नये मामले आए सामने, कुल 6412 हुए संक्रमित

नयी दिल्ली : देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण से लोगों के बचाव के लिए लागू 21 दिन के लॉकडाउन के बीच देश में पिछले 24 आगे पढ़ें »

ऊपर