लोकप्रियता के टॉप पर मोदी : दुनिया के 13 देशों के नेताओं में टॉपर

वॉशिंगटन : कोरोना महामारी की दूसरी लहर और भारत में उसके बुरे प्रभाव के बाद भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता कायम है। अमेरिकी डेटा इंटेलिजेंस फर्म मॉर्निंग कंसल्ट के सर्वे में ग्लोबल लीडर्स की रैंकिंग में मोदी टॉप पर हैं। उनकी लोकप्रियता को 100 में 66% नंबर मिले हैं। इस सर्वे में अमेरिका, ब्रिटेन, रूस, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, ब्राजील, फ्रांस और जर्मनी सहित 13 देश के नेताओं को शामिल किया गया था। हालांकि, सर्वे में बताया गया है कि पिछले एक साल में मोदी की लोकप्रियता में 20% गिरावट आई है। फिर भी जून की शुरुआत तक 66% लोग मोदी को पसंद करते हैं।
भारत के 2,126 लोग सर्वे में शामिल
सर्वे में भारत के 2,126 लोगों को शामिल किया गया। इसमें 28% लोगों ने मोदी की लोकप्रियता को अस्वीकार भी किया। सर्वे में सिर्फ 3 देश के नेताओं की रेटिंग 60 के ऊपर है। सर्वे में मोदी के बाद इटली के प्रधानमंत्री मारियो ड्रैगी का नंबर है। उनकी रेटिंग 65% है। इसके बाद तीसरे नंबर पर मेक्सिको के राष्ट्रपति लोपेज ओब्रेडोर हैं। इनकी रेटिंग 63% है। मॉर्निंग कंसल्ट पॉलिटिकल इंटेलिजेंस अमेरिका, भारत, फ्रांस, जापान, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, ब्राजील, जर्मनी, इटली, जापान, मेक्सिको, दक्षिण कोरिया, स्पेन और ब्रिटेन के नेताओं की अप्रूवल रेटिंग ट्रैक करता है और हर सप्ताह नए डेटा के साथ अपना पेज अपडेट करता है
किस नेता की कितनी रैंकिंग?
1. नरेंद्र मोदी: 66%
2. मारियो ड्राघी (इटली) : 65%
3. लोपेज ओब्राडोर (मेक्सिको) : 63%
4. स्कॉट मॉरिसन (ऑस्ट्रेलिया) : 54%
5. एंजेला मर्केल (जर्मनी) : 53%
6. जो बाइडेन (अमेरिका): 53%
7. जस्टिन ट्रूडो (कनाडा): 48%
8. बोरिस जॉनसन (ब्रिटेन): 44%
9. मून जे-इन (दक्षिण कोरिया): 37%
10. पेड्रो सांचेज (स्पेन): 36%
11. जायर बोल्सोनारो (ब्राजील): 35%
12. इमैनुएल मैक्रों (फ्रांस): 35%
13. योशीहिदे सुगा (जापान): 29%
राष्ट्र के नाम संबोधन से सुधरी रैंकिंग
अमेरिकी एजेंसी ने 7 जून को मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन को रैंकिंग सुधरने का एक जरिया माना है। इसमें उन्होंने कई घोषणाएं की थीं। राष्ट्र को संबोधित करते हुए मोदी ने 18 साल से ज्यादा के सभी लोगों को मुफ्त वैक्सीन लगवाने की घोषणा की थी। उन्होंने राज्य सरकारों को 75 प्रतिशत वैक्सीन की आपूर्ति करने की भी बात कही थी। मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में 80 करोड़ गरीबों को नवंबर तक मुफ्त राशन देने का वादा किया था।
किस तरह सर्वे करती है मॉर्निंग कंसल्ट कंपनी
1. कंपनी का दावा है कि उनकी पहुंच 100 मिलियन (10 करोड़) लोगों के डेटा तक है। इससे उन्हें रिसर्च करने में आसानी मिलती है।
2. 100 से ज्यादा देश में अब तक कंपनी 15 मिलियन (1.5 करोड़) लोगों का इंटरव्यू कर चुकी है।
3. रिसर्च के लिए कंपनी मशीन लर्निंग एल्गोरिदम  और नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग टूल का उपयोग भी करती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पोर्न फिल्म बनाने के आरोप में अभिनेत्री नंदिता सहित दो गिरफ्तार

राज कुंद्रा के पोर्न ऐप से संबंध हैया नहीं जांच कर रही है पुलिस कोलकाता : दो युवती का फोटोशूट के नाम पर पोर्न फिल्म बनाकर आगे पढ़ें »

ऊपर