बच्चे के देर तक टीवी देखने से नाराज हुए माता-पिता, दी और ज्यादा टीवी देखने की सजा!

नई दिल्लीः आज कल बच्चों को टीवी देखना या मोबाइल फोन में लगे रहना बहुत पसंद है। वो घंटों अपना वक्त स्क्रीन के सामने गुजार देते हैं जिसके कारण उनकी आंखें तो खराब होती ही हैं। साथ में प्रैक्टिकल दुनिया से भी दूर हो जाते हैं। कई रिसर्च में ये भी दावा किया गया है कि ज्यादा टीवी और फोन देखने से बच्चे मूर्ख बनते जा रहे हैं। माता-पिता इस बात से बहुत परेशान भी होते हैं। कई बार बच्चों को वो डांट-मारकर आदत छुड़वाने की कोशिश करते हैं पर वो संभव नहीं हो पाता है। मगर चीन के एक माता-पिता ने अपने बच्चे को ज्यादा टीवी देखने के लिए ऐसा सबक सिखाया कि सोशल मीडिया पर उनकी आलोचना होने लगी। एक रिपोर्ट के अनुसार इन दिनों चीन के सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जो एक चीनी परिवार का है। इस वीडियो को यूट्यूब पर भी शेयर किया गया है। दरअसल, पूरा मामला ये है कि हुनांन प्रांत में एक माता-पिता कहीं बाहर जा रहे थे तब उन्होंने अपने 8 साल के बच्चे को कहा था कि वो तबतक अपना होमवर्क पूरा कर ले और साढ़े 8 बजे तक सोने चला जाए जो उसका सोने का वक्त था। माता-पिता के जाने के दौरान बच्चा टीवी देख रहा था।

सजा के तौर पर ज्यादा टीवी देखने को कहा
जब वो देर में घर लौटे तो उन्होंने देखा कि बच्चा तब भी टीवी देख रहा था और उसने अपना होमवर्क भी पूरा नहीं किया था। माता-पिता इस बात से बहुत नाराज हुए और उन्होंने उसे सबक सिखाने के बारे में सोचा। उन्होंने बच्चे को सजा के तौर पर और ज्यादा टीवी देखने के लिए कहा। घर में लगे सीसीटीवी कैमरे पर साफ दिख रहा कि उसके माता-पिता उसे रातभर अपना पसंदीदा शो देखने के लिए कह रहे हैं। वो जैसे ही कमरे में अंदर आने की कोशिश करता है, वैसे ही उसे फिर से टीवी के पास भेज दिया जाता है। बच्चा कुछ देर तो टीवी देखना एंजॉय करता है पर फिर रोने लगता है।

 

 

Visited 181 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

आईएसपीएल को लेकर उत्साहित हैं बॉलीवुड सितारे, सैफ-अभिषेक ने …

मुंबई : इंडियन स्ट्रीट प्रीमियर लीग (आईएसपीएल) जल्द ही लोगों का मनोरंजन करने के लिए शुरू होने जा रहा है। दर्शकों को इस टेनिस बॉल आगे पढ़ें »

लोकसभा चुनाव से पहले लागू होगा CAA ?

नई दिल्ली: देश में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) जल्द लागू हो सकता है। सूत्रों के अनुसार, लोकसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता जारी होने आगे पढ़ें »

ऊपर