पाकिस्तानी गृह मंत्री ने मानी- कश्मीर मुद्दे पर अपनी नाकामी

Pakistani Interior Minister Brigadier Ejaz Ahmed Shah

इस्लामाबाद : पाकिस्तानी गृह मंत्री ब्रिगेडियर एजाज अहमद शाह ने बुधवार को कश्मीर मुद्दे पर अपनी असफलता को स्वीकार करते हुए कहा कि पाक कश्मीर मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय को साथ लाने में नाकाम रहा। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार को पाकिस्तान की छवि बिगाड़ने का जिम्मेदार भी ठहराया। एजाज ने एक साक्षात्कार के दौरान बताया कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को हम पर भरोसा ही नहीं है। उन्होंने यह भी बताया कि जब पाक अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सामने यह बात रखता है कि भारत ने कश्मीर घाटी में कर्फ्यू लगा रखा है और लोगों को दवाएं तक नहीं दे रहा है, तो इस पर कोई हमारा विश्वास नहीं करता। लेकिन भारत के कथन पर भरोसा किया जाता है।

इन देशों ने दिया भारत का साथ

मालूम हो कि संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान को किसी भी देश का समर्थन नहीं मिला। अमेरिका, फ्रांस और रूस जैसे देशों ने भी कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत का साथ दिया है। कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्ताने को बस दर-दर की ठोकरें ही मिली।

पाक ने 60 देशों के समर्थन दावा किया

जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार का हवाला देते हुए पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग (यूएनएचआरसी) में कहा कि 60 देशों ने पाक का समर्थन किया है। लेकिन पाक ने सार्वजनिक तौर पर किसी भी देश का नाम उजागर नहीं किया। वहीं जेनेवा में यूएनएचआरसी में पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल के एक सदस्य ने यहां तक कह दिया कि पाक समर्थन देशों की एक सूची भारतीय प्रतिनिधिमंडल को सौंपी दी जाएगी।

पाक के दावे हुए खारिज

सूत्रों की माने तो कश्मीर मुद्दे से जुड़े लोगों ने पाक के इस दावे को खारिज करते हुए बताया कि पाक को 57  इस्लामिक सहयोग संगठन (आईओसी) और चीन का समर्थन मिला है। हालांकि इंडोनेशिया जैसे कई ओआईसी सदस्यों ने अपने भारतीय समकक्षों के साथ बातचीत के बाद अपने को इस कदम से खुद को दूर ही रखा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

pak

पाकिस्तान : आसिया बीबी मामले में 86 कट्टरपंथियों को 55 साल कैद की सजा

इस्लामाबाद : पाकिस्तान की एक अदालत ने एक कट्टरपंथी इस्लामी पार्टी के 86 सदस्यों को 55 वर्ष कैद की सजा सुनाई है। इन सभी सदस्यों आगे पढ़ें »

guha

नरेंद्र मोदी परिश्रमी, राहुल गांधी का सांसद चुना जाना विनाशकारी : रामचंद्र गुहा

कोझिकोड : जानेमाने इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने शुक्रवार को कहा कि ‘‘खानदान की पांचवी पीढ़ी’’ के राहुल गांधी के पास भारतीय राजनीति में ‘‘कठोर परिश्रमी आगे पढ़ें »

ऊपर