उत्तर कोरिया तानाशाह किम जोंग का कोरोना से लड़ने का क्रूर उपाय

– दक्षिण कोरिया की खूफिया एजेंसी ने खोली किम की पोल

सियोल : जहां एक तरफ पूरी दुनिया कोरोना महामारी से लड़ने के लिए वैक्सीन समेत और कई तरह की प्रौद्योगिकी का ​निर्माण करने में जुटी है। वहीं क्रूर निर्णय लेने वाले उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग ने खतरनाक तरकीब लगाई। उन्होंने कोरोना वायरस और आर्थिक क्षति से बचाव के उपाय के तहत दो लोगों को फांसी पर चढ़ाने की सजा सुनाई। इतना ही नहीं, कोरोना के रोक-थाम के लिए किम ने राजधानी प्योंगयांग को बंद करने के साथ-साथ समुद्र में मछली मारने पर प्रतिबंध लगाने जैसे अजीबोगरीब आदेश भी दिए। यह जानकारी दक्षिण कोरिया की खुफिया एजेंसी ने शुक्रवार को अपने सांसदों को दी।

सांसदों ने नेशनल इंटेलिजेंस सर्विस (एनआईएस) की निजी बैठक में शामिल होने के बाद संवाददाताओं को बताया कि किम सरकार ने विदेशों में अपने राजनयिकों को आदेश दिया है कि ऐसे किसी भी काम से बचें जो अमेरिका को उकसाता है क्योंकि वह नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के उत्तर कोरिया के प्रति संभावित नये रूख को लेकर चिंतित है।

‘विवेकहीन’ कदम उठाने के पीछे है उनका ‘गुस्से’

सांसद हा टाई-क्यूंग ने एनआईएस के हवाले से बताया कि किम महामारी और इसके आर्थिक प्रभाव को लेकर ‘काफी गुस्से’ में हैं और ‘विवेकहीन कदम’ उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि एनआईएस ने सांसदों को बताया कि उत्तर कोरिया ने प्योंगयांग में पिछले महीने एक हाई प्रोफाइल मनी चेंजर को फांसी पर चढ़ा दिया। उस व्यक्ति को विनिमय की गिरती दर का दोषी पाते हुए फांसी पर चढ़ाया गया। उन्होंने यह भी बताया कि उत्तर कोरिया ने अगस्त में एक बड़े अधिकारी को विदेशों से आयातित माल के प्रतिबंध के सरकारी नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में फांसी पर चढ़ाया। दोनों व्यक्तियों की पहचान नहीं हो सकी।

एनआईएस ने सांसदों के समक्ष स्पष्ट किया कि उत्तर कोरिया ने समुद्री जल को वायरस से संक्रमित होने से बचाने के लिए मछली मारने और नमक उत्पादन पर भी प्रतिबंध लगा दिया। बता दें कि उत्तर कोरिया ने हाल में वायरस की चिंता के मद्देनजर प्योंगयांग और उत्तरी जांगांग प्रांत में लॉकडाउन लगा दिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

tmc

बौखला उठे हैं भाजपा प्रवक्ता, मर्यादा की सारी सीमाएं लांघ रहे हैं

तृणमूल को बांग्लादेशी पार्टी कहा, प्रवक्ता को बंगलादेशी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : जैसे - जैसे विधानसभा चुनाव करीब आ रहा है वैसे - वैसे भाजपा में बौखलाहट आगे पढ़ें »

मुख्यमंत्री के साथ हुए व्यवहार पर नरेंद्र मोदी ने एक शब्द नहीं कहा – तृणमूल

पीएम के रवैये पर तृणमूल ने जताया खेद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर विक्टोरिया मेमोरियल में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ममता आगे पढ़ें »

ऊपर