पति ने बनाई नई गर्लफ्रेंड तो महिला ने छह में से पांच बच्चे मार डाले

नई दिल्ली : एक महिला जितना अपने बच्चों से प्यार करती है, शायद किसी और से नहीं, लेकिन कहा ये भी जाता है कि कोई भी महिला पति के प्यार में बंटवारा भी बर्दाश्त नहीं कर सकती है, लेकिन जर्मनी की एक महिला ने जो किया, वो हैरान करने वाला है। मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक उसके पति का प्यार बंटा, तो महिला ने अपने छह में से पांच बच्चों की जान ले ली। ये मामला जर्मन के सोलिंगन शहर का है। पिछले साल सितंबर में यहां पांच बच्चों की संदिग्ध हालत में मौत हुई। बच्चों की मौत के मामले में आरोप उनकी मां पर लगे। वुपर्टल के जिला न्यायालय में आरोपी मां क्रिस्टियन पर केस चल रहा है।

क्रिस्टियन पर आरोप है कि उसने अपने पांच बच्चों को खाने में ड्रग्स की हैवी डोज दी और उसके बाद उन्हें बाथरूम में ले जाकर बेरहमी से मार डाला। इस मामले में अभियोजकों का दावा है कि क्रिस्टियन ने अपने बच्चों को नाश्ते में नशीला पदार्थ मिलाकर खिलाया, जिससे वह बेहोशी की हालत में पहुंच जाएं। इसके बाद आरोपी महिला एक-एक करके बच्चों को बाथरूम में ले गई और पानी में डुबाकर उन्हें मार डाला।

पांचों बच्चे जिसमें दो से तीन साल की तीन बेटियां और छह और आठ साल के दो बेटे हैं, उनकी लाशें तीन सितंबर को नॉर्थ राइन-वेस्टफेलिया में स्थित फैमिली फ्लैट में मिलीं। महिला का छठा बच्चा 11 वर्षीय मार्सेल इसलिए बच गया, क्योंकि घटना के समय वह अपने स्कूल में था। 

अभियोजकों का मानना ​​​​है कि बच्चों को मारने के बाद आरोपी महिला ने डसेलडोर्फ सेंट्रल स्टेशन पर ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या करने का प्रयास किया, लेकिन उसे बचा लिया गया। वहीं क्रिस्टियन ने अपनी बेगुनाही बरकरार रखी और कहा कि एक नकाबपोश व्यक्ति ने फ्लैट में प्रवेश किया और बच्चों को मार डाला। 

अभियोजकों के अनुसार इस मामले में जांच के दौरान पुलिस अधिकारियों को कोई भी ऐसे सबूत नहीं मिले, जिससे ये स्पष्ट हो सके, कि आरोपी महिला द्वारा जो बयान दिये जा रहे हैं, वो सही हैं। 

अभियोजक हेरिबर्ट कौन गेभार्ड ने कहा कि आरोपी महिला का अपने पति की नई प्रेमिका से विवाद चल रहा था। वह क्रिस्टियन का तीसरा पति है, जो इन छह बच्चों में से चार का पिता है। इसी वजह से उसने बच्चों पर अपना गुस्सा उतारते हुए उन्हें मार दिया। अभियोजकों ने क्रिस्टियन पर ‘दुर्भावनापूर्ण हत्या’ का आरोप लगाते हुए कहा कि उसने मासूम बच्चों की मासूमियत का फायदा उठाया। रिपोर्ट के अुनसार पिछले साल सितंबर में पुलिस को पांच बच्चों के मरने की सूचना मिली थी। जब पुलिस मौके पर पहुंची, तो फ्लैट में एक वर्षीय मेलिना, दो वर्षीय लियोनी, तीन वर्षीय सोफी, छह वर्षीय टिमो और आठ वर्षीय लुका का शव मिला। पुलिस अधिकारियों के अनुसार पांचों बच्चों की लाशें बिस्तर पर पड़ी हुई थीं। इस मामले में जांच के बाद आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

स्टाफ स्पेशल ट्रेन में आम यात्री भी चढ़े

हुगली : लॉकडाउन की वजह से राज्य में लोकल ट्रेनों का परिचालन बंद है। स्टाफ स्पेशल ट्रेनें चल रही है जिसमें आम यात्रियों को यात्रा आगे पढ़ें »

ऊपर