मैक्डॉनल्ड्स ने सीईओ को किया बर्खास्त,कर्मचारी के साथ रिश्ता रखने का आरोप

steve esterbrook

न्यूयाॅर्क : फास्ट फूड चैन मैक्डॉनल्ड्स ने अपने कंपनी के सीईओ स्टीव ईस्टरब्रुक को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। स्टीव के ऊपर अपने कर्मचारी के साथ संबंध रखने का आरोप है जो कंपनी की नीति के नियमों के खिलाफ है। हालांकि कंपनी ने अपने बयान में कहा है कि स्टीव ईस्टरब्रुक ने महिला कर्मचारी के साथ आपसी सहमति से संबंध बनाए थे। मालूम हो कि स्टीव ईस्टरब्रुक साल 2015 से मैक्डॉनल्ड्स का संचालन कर रहे है। कंपनी के बोर्ड ने उन्हें दोषी मानते हुए सीईओ के पद से निकालने का फैसला किया है। इसके साथ-साथ कंपनी ने निर्णय लिया है कि स्टीव को बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स से भी हटा देना चाहिए।

स्टीव ने ईमेल में मानी अपनी गलती

मैक्डॉनल्ड्स ने अपने प्रेस रिलीज में स्टीव की ईमेल साझा की है जिसमें उन्होंने स्वीकार किया है कि उनके एक कर्मचीरी के साथ संबंध थे। उन्होंने कहा कि यह उनकी गलती थी और कंपनी के नीतियाें को देखते हुए मैं बोर्ड के इस फैसले से सहमत हूं। अब मेरे जाने का वक्त आ गया है। कंपनी के निदेशक मंडली ने दोबारा जांच करने के बाद शुक्रवार को स्टीव के निष्कासन के पक्ष में मतदान किया। स्टीव ने अपनी भूल स्वीकारते हुए कहा कि मैंने कंपनी के कर्मचारी के साथ आपसी सहमति से संबंध बनाए और मुझे उम्मीद ‌है कि मेरी निजता का सम्मान किया जाएगा।

क्रिस केंपिजिंस्की को बनाया गया नयी सीईओ

जानकारी के मुताबिक स्‍टीव ईस्टरब्रुक के बाद क्रिस केंपिजिंस्की को मैकडोनाल्ड यूएसए का नया सीईओ बनाया गया है। अपने संदेश में स्टीव को शुक्रिया करते हुए केंपजिंस्की ने कहा कि स्‍टीव के कामों को आगे बढ़ाने के लिए वह इस दिशा में काम करेंगे। मैकड़ी के चेयरमैन एनरिक हर्नांडेज जूनियर के मुताबिक क्रिस कंपनी के स्ट्रेटेजीज्स के लिए उपयोगी है। हालांकि मैक्डॉनल्ड्स ने स्टीव ईस्टरबुक के बारे में और कोई जानकारी नहीं दी है।

गौरतलब है कि ईस्टरबुक से कंपनी को काफी फायदा हुआ है। उन्होंने 1 मार्च 2015 से कंपनी के साथ काम करना शुरु किया था जिसके बाद कंपनी के स्टॉक

दोगुनी हो गयी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शतरंज पर नहीं पड़ा कोविड-19 का असर, अन्य खेल ठप पड़े

चेन्नई : ऐसे समय में जब कोविड-19 महामारी के चलते दुनिया भर में खेल गतिविधियां ठप्प पड़ी हैं, तो शतरंज एक ऐसा खेल है जो आगे पढ़ें »

भारत को दो विश्व कप जिताने वाले कप्तान ने कहा, पद्म श्री नहीं, सरकारी नौकरी चाहिए

नई दिल्ली : भारत को दो बार ब्लाइंड वर्ल्ड कप क्रिकेट जिताने वाले कप्तान शेखर नाइक इस समय वित्तीय संकट से जूझ रहे हैं। यही आगे पढ़ें »

ऊपर