इराकी नेता निजी तौर पर चाहते हैं अमेरिकी सेना की मौजूदगी : पोम्पिओ

pompio

वाशिंगटन : अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने सोमवार को कहा कि इराक के नेता चाहते हैं कि वहां पर अमेरिकी सेना रहे। उन्होंने कहा कि, इराकी नेताओं ने उन्हें निजी तौर पर बताया है कि वे अमेरिकी सेना की मौजूदगी का समर्थन करते हैं। बगदाद हवाईअड्डे पर अमेरिकी हवाई हमले में ईरान के एक शीर्ष जनरल के मारे जाने के बाद इराक की संसद ने गत सप्ताह विदेशी सेनाओं के आमंत्रण को रद्द करने के लिए वोट दिया। हालांकि पोम्पिओ ने कहा कि उन्होंने इराक के करीब 50 नेताओं के साथ बातचीत में अलग ही बात सुनी।

निजी तौर पर सभी इस बात का स्वागत करते हैं

पोम्पिओ ने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक फोरम में एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘वे सार्वजनिक रूप से ऐसा नहीं करेंगे लेकिन निजी तौर पर वे सभी इस बात का स्वागत करते हैं कि अमेरिका अब भी आतंकवाद के खिलाफ अपना अभियान चलाए हुए है।’’

अमेरिकी बल इराक में यह सुनि‌श्चित कर रहे हैं

विदेश मंत्री ने कहा कि अमेरिकी बल यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि इस्लामिक स्टेट के चरमपंथी फिर न उभरे और इराकियों को संप्रभुता तथा आजादी हासिल करने का अवसर मिले जो ज्यादातर इराकी चाहते हैं। पोम्पिओ ने कहा कि उन्होंने शिया बहुल नेताओं समेत इराक में सभी पृष्ठभूमियों के नेताओं से बात की थी जिनके ईरान से धार्मिक संबंध हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर