ईरानी संसद ने परमाणु निरीक्षण पर रोक लगाने वाले विधेयक को मंजूरी दी

तेहरान : ईरान की संसद ने मंगलवार को एक विधेयक को मंजूरी दे दी जिसमें उसके परमाणु संयंत्रों के संयुक्त राष्ट्र द्वारा निरीक्षण पर रोक का प्रावधान है। इसमें यह भी कहा गया है कि 2015 के परमाणु समझौते पर हस्ताक्षर करने वाले यूरोपीय देश यदि तेल संबंधी पाबंदियों से राहत नहीं देते तो सरकार यूरेनियनम संवर्धन बढ़ाएगी।

अमेरिका मुर्दाबाद के नारे लागाए गए : विधेयक पर चर्चा के लिए मतदान को पिछले महीने एक प्रसिद्ध ईरानी परमाणु विज्ञानी की हत्या के बाद चुनौती के रूप में देखा जा रहा है। इस विधेयक को कानून बनने से पहले अभी कई अन्य स्तरों से गुजरना होगा। सरकारी आईआरएनए समाचार एजेंसी ने कहा कि 290 सदस्यीय सदन में 251 सदस्यों ने विधेयक के पक्ष में मतदान किया जिसके बाद कई ने ‘अमेरिका मुर्दाबाद’ और ‘इजराइल मुर्दाबाद’ के नारे लगाने शुरू कर दिये।

ट्रंप ने परमाणु समझौते से वापस लिया था समर्थन : विधेयक में यूरोपीय देशों को ईरान के प्रमुख गैस और तेल क्षेत्र पर पाबंदियों में ढील के लिए तीन महीने का समय देने का प्रावधान है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एकपक्षीय तरीके से परमाणु समझौते से समर्थन वापस ले लिया था और ईरान पर पाबंदियां लगा दीं। इसके बाद दोनों पक्षों के बीच तनाव बढ़ गया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

tmc

बौखला उठे हैं भाजपा प्रवक्ता, मर्यादा की सारी सीमाएं लांघ रहे हैं

तृणमूल को बांग्लादेशी पार्टी कहा, प्रवक्ता को बंगलादेशी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : जैसे - जैसे विधानसभा चुनाव करीब आ रहा है वैसे - वैसे भाजपा में बौखलाहट आगे पढ़ें »

मुख्यमंत्री के साथ हुए व्यवहार पर नरेंद्र मोदी ने एक शब्द नहीं कहा – तृणमूल

पीएम के रवैये पर तृणमूल ने जताया खेद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर विक्टोरिया मेमोरियल में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ममता आगे पढ़ें »

ऊपर