ईरान : रूहानी ने विदेशी ताकतों पर लगाया आरोप, कहा खाड़ी में असुरक्षा बढ़ा रहे हैं

ruhani

तेहरान : ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने खाड़ी में विदेशी ताकतों पर असुरक्षा बढ़ाने का आरोप लगाया है। उन्होंने रविवार को खाड़ी में विदेशी ताकतों की निंदा करते हुए कहा‌ कि ईरान शांति के लिए संयुक्त राष्ट्र में एक क्षेत्रीय सहयोग योजना पेश करेगा। रूहानी का यह बयान क्षेत्र में और सैनिक तैनात करने की अमेरिका की हालिया घोषणा की पृष्ठभूमि पर आया है।

विदेशी ताकतें हमारे क्षेत्र के ‌लिए असुरक्षा पैदा कर सकती हैं

रूहानी ने वार्षिक सैनिक परेड से पहले टेलीविजन में दिए अपने संबोधन में कहा,‘‘विदेशी ताकतें हमारे क्षेत्र के लिए और हमारे लोगों के लिए समस्याएं और असुरक्षा पैदा कर सकती है।’’ उन्होंने कहा कि ईरान आने वाले दिनों में संयुक्त राष्ट्र में शांति योजना पेश करेगा। रूहानी ने कहा, ‘‘इस संवेदनशील और अहम ऐतिहासिक क्षण में हम अपने पड़ोसियों के लिए यह घोषणा करना चाहते हैं कि हम उनकी ओर मित्रता और भाईचारे का हाथ बढ़ाते हैं।’’

रूहानी ने विदेशी ताकतों को दूर रहने को कहा

रूहानी ने अपने भाषण में खाड़ी क्षेत्र में विदेशी ताकतों को ‘दूर रहने’ को कहा। उन्होंने कहा कि अगर वे गंभीर हैं तो उन्हें हमारे क्षेत्र को हथियार प्रदर्शन के क्षेत्र में तब्दील नहीं करना चाहिए। रूहानी ने दो टूक कहा, ‘‘आपकी मौजूदी हमेशा हमारे क्षेत्र में पीड़ा और दुख लाई है। आप अपने आप को जितना हमारे क्षेत्र से और हमारे देशों से दूर रखेंगे, हमारे क्षेत्र में उतनी ही अधिक सुरक्षा रहेगी।’’ रूहानी का संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से पहले सोमवार को न्यूयार्क जाने का कार्यक्रम है।

ईरान और अमेरिका के बीच तनाव चरम पर

गौरतलब है कि ईरान और अमेरिका के संबंध इस वक्त बेहद तनाव पूर्ण हैं और इसकी शुरुआत पिछले साल उस वक्त हुई जब अमेरिका ने 2015 के परमाणु समझौते से खुद को अलग कर लिया और ईरान पर अधिकतम दबाव बनाने के लिए उस पर अनेक प्रतिबंध लगाए। अमेरिका के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने शुक्रवार को घोषणा की कि अमेरिका सऊदी अरब के अनुरोध पर वहां और सैनिक भेज रहा है। उन्होंने कहा था कि ये बल रक्षात्मक प्रकृति के होंगे और इनका पूरा ध्यान हवाई और मिसाइल रक्षा पर होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर