टेक्सास के स्कूल में अंधाधुंध गोलीबारी, 18 बच्चों समेत 21 लोगों की मौत

नई दिल्ली : अमेरिका एक बार फिर गोलीबारी से दहल उठा है। टेक्सास के एक स्कूल में हुई गोलीबारी में 18 बच्चों समेत कुल 21 लोगों की मौत हो गई है। अमेरिका के टेक्सास के एक प्राथमिक स्कूल में बंदूकधारी ने अंधाधुंध फायरिंग की है। जिसमें स्कूल में मौजूद 18 बच्चों की मौत हो गई है जबकि तीन लोगों ने भी अपनी जान गंवा दी। इस हमले में कई लोग घायल भी हुए हैं। सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई में हमलावर को मार गिराया है। टेक्सास के गवर्नर ग्रेग एबॉट ने इसे टेक्सस के इतिहास में गोलीबारी की सबसे बड़ी घटनाओं में से एक है। बताया जा रहा है कि हमलावर 18 साल का एक युवक था और वो उवाल्डे के प्राथमिक विधायल में फायरिंग करते हुए घुस गया। इसके सामने जो भी आया वो उसके ऊपर गोलियों की बौछार कर दी। हमलावर का नाम सल्वाडोर रामोस बताया जा रहा है। हालांकि हमले की वजह अभी तक साफ नहीं हो पाई है। टेक्सास हमले के बाद राष्ट्रपति बाइडन ने टेक्सस के गवर्नर से बात की। बाइडन ने गवर्नर को हर संभव सहायता देने को कहा। टेक्सस में फायरिंग में अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने बयान में कहा कि अब बहुत हो गया है। हमें कार्रवाई करने की हिम्मत रखनी होगी।

पहले दादी को निशाना बनाया, फिर स्कूल पहुंचा
अमेरिकी स्कूल में गोलीबारी की ताजा घटना टेक्सास के छोटे से शहर उवाल्डे में हुई है। यहां की आबादी 20,000 से भी कम है। गवर्नर एबॉट के अनुसार, हमलावर का नाम सल्वाडोर रामोस है। इसी इलाके का रहने वाला था। सीएनएन ने सूत्रों के हवाले खबर दी है कि हमलावर बंदूकधारी ने सबसे पहले अपनी दादी को निशाना बनाया। इसके बाद उसने 19 बच्चों को गोली मार दी। दो शिक्षक भी उसकी चपेट में आ गए। दादी की हालत गंभीर बताई गई है। स्कूल में 600 विद्यार्थी पढ़ते हैं। हमले में कई घायल हुए हैं। एक 60 वर्षीय महिला व 10 साल की बच्ची की हालत गंभीर है।

जो बाइडन ने जताया दुख, चार दिन का शोक
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इस गोलीबारी की घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि स्कूल रॉब एलीमेंट्री स्कूल की घटना काफी दुखद है। उन्होंने गोलीबारी में मारे गए बच्चों व शिक्षकों के सम्मान में देश में चार दिन का शोक घोषित किया है। इस दौरान सभी सैन्य और नौसेना के जहाजों, स्टेशनों सहित विदेशों में सभी अमेरिकी दूतावासों और अन्य कार्यालयों में 28 मई को सूर्यास्त तक अमेरिकी ध्वज आधा झुकाने का एलान किया। बाइडन ने टेक्सास के गवर्नर ग्रेग एबॉट के साथ बात की, ताकि उन्हें स्कूल में हुई गोलीबारी के मद्देनजर सहायता की जा सके।

राष्ट्रपति बोले- अब कुछ करना होगा
राष्ट्रपति बाइडन ने कहा, ‘एक राष्ट्र के रूप में, हमें सोचना होगा कि भगवान के नाम पर कब तक हम गन लॉबी के सामने लाचार खड़े रहेंगे या वह करेंगे जो करने की जरूरत है। दिवंगत बच्चों के माता-पिता अपने बच्चों को फिर कभी नहीं देख पाएंगे। अब कुछ करना ही पड़ेगा। हमें उन लोगों को सबक सिखाने की जरूरत है, जो इस तरह कानून के खिलाफ जाकर बंदूक उठाते हैं, हम इसे माफ नहीं करेंगे।

हिलेरी क्लिंटन ने कहा- रोकी जाए हिंसा
टेक्सास में हुई गोलीबारी की घटना पर हिलेरी क्लिंटन ने भी बयान जारी किया है। उन्होंने कहा कि इस घटना पर विचार और प्रार्थना पर्याप्त नहीं हैं। कुछ वर्षों से हम पीड़ा से भरी चीखों का देश बनते जा रहे हैं। हमें ऐसे कानून निर्माताओं की जरूरत है जो अमेरिका में बंदूक की हिंसा को रोकने के लिए तैयार हों।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आटा के बाद अब चावल भी महंगा…

नई दिल्ली : गेंहू के दामों में उछाल के बाद अब चावल  के दामों में तेजी देखी जा रही है, घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजार में आगे पढ़ें »

ऊपर