हांगकांग वासियों ने विरोध प्रदर्शन के छह महीने पूरे होने के अवसर पर विशाल रैली निकाली

hong kong

हांगकांग : हांगकांग में लोकतंत्र के समर्थन में हो रहे प्रदर्शन के 6 महीने पूरे होने के अवसर पर रविवार को बड़ी संख्या में लोगों ने विशाल रैली निकाल आंदोलन के प्रति समर्थन व्यक्त किया। इस मौके पर उन्होंने चीन समर्थक नेताओं को चेतावनी दी कि इस राजनीतिक संकट को हल करने के लिए उनके पास आखिरी मौका है। हजारों की संख्या में लोग सर्द मौसम होने के बावजूद हांगकांग के वित्तीय केंद्र की सड़कों पर आ रहे हैं और महीनों बाद प्रदर्शनकारियों का इतने बड़े पैमाने पर शक्तिप्रदर्शन होता दिख रहा है। दुर्लभ घटना के तहत पुलिस प्रशासन ने रैली की अनुमति दी है।

चीन की ओर से रियायत नहीं देने पर नाराजगी

यह रैली स्थानीय चुनाव में चीन समर्थक पार्टियों को मिली करारी हार के दो हफ्ते बाद हुई, जो पहले दावा कर रही थी कि बहुमत आंदोलन के खिलाफ है। प्रदर्शन में शामिल कई लोगों ने मुख्य कार्यकारी कैरी लैम और चुनाव में करारी हार के बावजूद चीन की ओर से रियायत नहीं देने पर नाराजगी व्यक्त की।

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के आदेशों का अनुपालन करेगी सरकार

प्रदर्शन में शामिल 50 वर्षीय वोंग उपनाम के व्यक्ति ने कहा, ‘इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि हम अपनी भावनाएं किस रूप में रखते हैं, चाहे शांतिपूर्ण मार्च हो या सभ्य तरीके से किया गया चुनाव, सरकार नहीं सुनेगी। वह केवल चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के आदेशों का अनुपालन करेगी।’ उल्लेखनीय है कि हांगकांग चीन का अर्ध स्वायत्त क्षेत्र है जिसे ब्रिटेन ने 1997 में 100 साल की लीज पूरी होने के बाद चीन को सौंपा था, लेकिन बीजिंग की ओर से अधिनायकवादी शासन लागू करने की कोशिश के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन लगातार हिंसक होते जा रहे हैं। प्रदर्शनकारी लोकतांत्रिक अधिकारों को कायम रखने के साथ प्रदर्शन के दौरान की गई पुलिस ज्यादती की निष्पक्ष जांच, हिरासत में लिए गए लोगों को आम माफी और स्वतंत्र चुनाव की मांग कर रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ramvilas

लॉकडाउन में नहीं होगी अनाजों की कमी, उपभोक्ता मंत्रालय ने लिए कई अहम् फैसले

नई दिल्ली : कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन में लोगों को कोई समस्या ना हो इसके लिए खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने कई आगे पढ़ें »

किराना सामानों से भी घर में आ सकता है कोरोना वायरस, बरतें सावधानी

नई दिल्ली : कोरोना के दौर पूरा देश लॉकडाउन पर है, लेकिन कुछ जगहें ऐसी हैं, जहाँ जाए बिना काम नहीं चलता। वो है किराना आगे पढ़ें »

ऊपर