सेना को किया ‘बेपर्दा’ तो ऑफ एयर हुए हामिद मीर

इस्लामाबाद : पाकिस्तान के जाने-माने पत्रकार हामिद मीर के खिलाफ कार्रवाई किए जाने पर इमरान खान सरकार घिर गई है। मीर के कार्यक्रम को ऑफ एयर किए जाने के फैसले पर लोगों में नाराजगी है। दरअसल, पत्रकार असद तूर पर हमला होने के बाद मीर ने सेना की तीखी आलोचना की जिसके बाद इमरान सरकार ने उन्हें अनिश्चितकाल के लिए ऑफ एयर कर दिया है। असद पाकिस्तान सेना और उसकी खुफिया एजेंसी की कड़ी आलोचना करने वालों में से एक हैं। कुछ दिनों पहले असद के इस्लामाबाद स्थित अपार्टमेंट में अज्ञात लोगों ने उन पर हमला किया।

मीर का  ‘कैपिटल टॉक’ शो काफी लोकप्रिय
प्रतिष्ठित पत्रकार मीर जिओ टीवी पर करीब दो दशकों से अपना चर्चित शो ‘कैपिटल टॉक’ पेश करते आए हैं। उन्होंने सोमवार को कहा, ‘ऑफ एयर करने का फैसला मेरे लिए नया नहीं है। बीते समय में मुझ पर दो बार प्रतिबंध लगाया जा चुका है। मेरी दो बार नौकरी जा चुकी है। मेरे ऊपर जानलेवा हमले हुए लेकिन मैं बच गया। संविधान में जो अधिकार दिए गए हैं, उन्हें मैं उठाता रहूंगा। इस बार मैं किसी भी हद तक जाने और कोई भी परिणाम भुगतने के लिए तैयार हूं क्योंकि वे (सेना और आईएसआई का हवाला देते हुए) मेरे परिवार को धमकी दे रहे हैं।’

मीडिया से बातचीत में मीर ने कहा, ‘आप यदि हमें घुसकर मारेंगे तो हम आपके घर में तो नहीं घुस सकते क्योंकि आपके पास टैंक और बंदूके हैं। लेकिन हम आपके घर के अंदर की बातें आपको बताएंगे और यह भी बताएंगे कि किसकी बीवी ने किसको गोली क्यों मारी।’

जिओ मैनेजमेंट ने छुट्टी पर भेजा
जिओ मैनेजमेंट का कहना है कि पत्रकार एवं एंकर जंग ग्रुप का हिस्सा बने रहेंगे लेकिन उन्हें ‘छुट्टी’ पर भेजा जा रहा है। वह अनिश्चितकाल तक टीवी पर दिखाई नहीं देंगे। मीर को बैन किए जाने पर पाकिस्तान में तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिली है। पाकिस्तान में पत्रकारों ने इमरान सरकार की आलोचना करते हुए मीर के साथ एकजुटता जाहिर की है।

पत्रकारों के निशाने पर आई इमरान सरकार
पिछले महीने अपने ऊपर हमले का सामना करने वाले वरिष्ठ पत्रकार अबसार आलम ने अपने एक ट्वीट में कहा, ‘किसी के परिवार को धमकी देना शर्मनाक है। यदि किसी को हामिद मीर से शिकायत है तो असंवैधानिक एवं अराजक तरीके से उनका मुकाबला करने की बजाय कानूनी प्रावधानों का अनुसरण करना चाहिए।’ आलम के साथी पत्रकारों का कहना है कि उन पर आईएसआई ने हमला कराया।

मीर के साथ पत्रकारों ने दिखाई एकजुटता
पत्रकार आसमा शिराजी ने अपने ट्वीट में कहा, ‘हामिद मीर को यदि ऑफ एयर किया गया है अथवा कार्यक्रम करने से प्रतिबंधित किया गया है तो सरकार एवं सशक्तिशाली प्रतिष्ठान के खिलाफ ज्यादा अंगुलिया उठेंगी।’ एक अन्य पत्रकार मुनिजई जहांगीर का कहना है, ‘हामिद मीर पर प्रतिबंध पाकिस्तान में स्वतंत्र मीडिया होने का दावा करने वाले लोगों के मुंह पर तमाचा है। मीर निसंदेह पाकिस्तान के सबसे बड़े टीवी एंकर हैं। पत्रकारों पर होने वाले हमलों के खिलाफ बोलने पर उन्हें सजा दी जा रही है।’

पिछले सप्ताह व्लॉगर असद अली पर हुआ हमला
पिछले सप्ताह अज्ञात लोगों ने पाकिस्तानी पत्रकार एवं व्लॉगर असद अली तूर पर उनके इस्लामाबाद स्थित अपार्टमेंट में हमला किया और उन्हें धमकी दी। इस घटना के बाद मीर ने पाकिस्तान सरकार और सेना के खिलाफ हमला बोलना शुरू किया।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोकप्रियता के टॉप पर मोदी : दुनिया के 13 देशों के नेताओं में टॉपर

वॉशिंगटन : कोरोना महामारी की दूसरी लहर और भारत में उसके बुरे प्रभाव के बाद भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता कायम है। अमेरिकी डेटा आगे पढ़ें »

दर्दनाकः किशोरी के साथ चार युवकों ने मिलकर किया सामूहिक दुष्कर्म, फिर….

पटनाः राजधानी पटना से सटे दनियावां प्रखंड के शाहजहांपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में गुरुवार को एक 15 वर्षीय किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने आगे पढ़ें »

ऊपर