जर्मनी : यहूदी प्रार्थना स्थल के बाहर दो लोगो की गोली मारकर हत्या,लाइव स्ट्रीमिंग

gun firing in public place

कीबर्लिन : जर्मनी के हाले शहर में यहूदी प्रार्थना स्थल के बाहर गोलीबारी में दो लोगों की हत्या हो गई हैं। घटना उस समय हुई जब यहूदियों के पवित्र दिन योम किप्पुर की प्रार्थना चल रही थी। घटनास्‍थल के बाहर बंधूकधारी ने काफी गोलियां चलाई। उस वक्त वहां 80 यहूदी श्रद्धालु उपस्थित थे। खबरों के मुताबिक पुलिस काफी लोगों के मरने और जख्मी हाेने का संदेह जता रही है। आरोपी कत्लेआम के लिए प्रार्थनास्‍थल के अंदर जाकर हत्या करना चाहता था पर वह कामयाब नहीं हो सका। सबसे हैरानी की बात तो यह है कि हमले के दौरान बंदूकधारी ने अपने सर पर कैमरा लगाया हुआ था ताकि वह पूरी घटना की वीडियो बना सकें। बता दें कि गेमिंग प्लेटफॉर्म ट्विटच पर वीडियो की लाइव स्ट्रीमिंग करने के कुछ देर बाद ही उसे हटा लिया गया। देश के कई समाचार संस्‍थानों ने पुलिस की मदद से जानकारी दी की निकट में स्थित लैंड्सबर्ग में एक और हमला हाे सकता है।

एक आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने बताया कि फायरिंग के बाद घटनास्‍थल से कई संदिग्ध लोग गाड़ी में बैठकर भाग खड़े हुए। हालांकि एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है और साथ ही पुलिस ने लोगो को सावधानी बरतने को कहा है। आरोपी की पहचान 27 वर्षीय बेनड्राॅफ के रुप में की गयी है। न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में भी बिल्कुल इसी तरह की घटना हुई थी जहां 28 वर्षीय ब्रेंटन टॉरेंट ने मस्जिदों में अंधाधुंध फायरिंग कर 51 लोगों को मौत ‌की घाट उतार दिया था। ब्रेंटन ने भी अपने सर पर कैमरा लगाकर पूरे घटना की फेसबुक पर इसकी लाइव स्ट्रीमिंग की थी। इसके बाद फेसबुक की भी कड़ी निंदा की गयी थी।

इंटरनेट पर 10 पन्नों के दस्तावेज में हमले की पूरी योजना साझा की थी

वीडियो में हमलावर हरे रंग की जैकेट पहना हुआ है और उसने अपना नाम एनॉन बताया है। चौंकाने वाली बात यह है कि उसने दुनिया की परेशानियों की एक सूची तैयार की थी जिसमे उसने इन सभी समस्‍याओं के लिए यहूदी को जिम्मेदार ठहराया था। प्रार्थनास्‍थल पर सुरक्षाकर्मियों ने गेट बंद करके रखा ‌था और इसी कारण वह अंदर नहीं जा सका। घुसने में नाकाम होने के कारण उसने बाहर में एक महिला सहित दो लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी। अतिवादी समूहों की सायबर गतिविधियों पर नजर रखने वाली संस्था साइट के निदेशक रीटा केट्ज ने कहा कि हमले में इस्तेमाल करने वाले हथियार और असलहा संबंधी एक दस्तावेज को भी अपलोड किया था। उसने सभी यहूदी समाज के सभी लोगो को मारने के मकसद की बात भी कही थी। इसके साथ ही हमलावर ने इंटरनेट पर 10 पन्नों के दस्तावेज में हमले की पूरी योजना साझा की थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पाटुली के लोगों ने दिखायी जागरूकता, पहले थे 13 कंटेनमेंट जोन, अब हुए 0

कोलकाता : एक तरफ कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार राज्य में अपने पैर फैलाते जा रहा है तो वहीं थोड़ी राहत की खबर यह है आगे पढ़ें »

व्हाइट हाउस के बाहर चली गोली, राष्ट्रपति ट्रम्प को ले जाया गया सुरक्षित स्‍थान

  वाशिंगटन : व्हाइट हाउस के पास गोलीबारी की घटना के बाद अमेरिकी गुप्तचर सेवा के एजेंट राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को कोरोना वायरस पर चल रहे आगे पढ़ें »

ऊपर