एक वर्ष के लिए श्रद्धालुओं को पासपोर्ट की मिलेगी छूट, तैनात होंगे सुरक्षा के लिए विशेष ‘पर्यटन पुलिस बल’

kartarpur

इस्लामाबाद : पाकिस्तान विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि गुरु नानक की 550वीं जयंती के अवसर के मद्देनजर भारतीय सिखों के लिये पासपोर्ट की शर्त को एक साल के लिये हटा दिया गया है। इसके उलट पाकिस्तानी सेना के एक प्रवक्ता ने पहले कहा था कि तीर्थयात्रियों को पासपोर्ट की जरूरत होगी। जियो टीवी ने फैसले को उद्धृत करते हुए कहा कि करतारपुर तीर्थयात्रियों के लिये पासपोर्ट की छूट को गुरुनानक देव की 550वीं जयंती के अवसर पर विशेष पहल के तहत एक वर्ष के लिये होगी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने 9 और 12 नवंबर को 20 अमेरिकी डॉलर (लगभग 1400 रुपये) का शुल्क न वसूलने का भी फैसला किया है। उन्होंने कहा कि इस विशाल समारोह के लिये 10 दिन पहले की पूर्व सूचना की अनिवार्यता से भी छूट दी गई है। फैसल ने कहा कि पाकिस्तान को उम्मीद है कि 550वीं जयंती पर दुनिया भर से बड़ी संख्या में सिख श्रद्धालू यहां पहुंचेंगे। करतारपुर गलियारे पर पाकिस्तान के प्रयास को खालिस्तान आंदोलन को बढ़ावा देने से जोड़ने वाली खबरों को खारिज करते हुए उन्होंने कहा, ‘हमारी नीति में ऐसी कोई नकारात्मकता नहीं है।’

सुरक्षा के लिए विशेष ‘पर्यटन पुलिस बल’

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की पुलिस ने शनिवार से हर रोज करतारपुर आने वाले भारतीय श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए गुरुवार को 100 सदस्यों वाला विशेष ‘पर्यटन पुलिस बल’ तैनात किया है। गलियारे की सुरक्षा का जिम्मा पाकिस्तानी रेजरों पर है और पंजाब पुलिस उनके साथ समन्वय करेगी। पंजाब पुलिस के प्रवक्ता नियाब हैदर नकवी ने कहा,‘सिख श्रद्धालुओं की देखभाल और उनकी सुरक्षा के लिए 100 जवानों के पर्यटन पुलिस बल के एक दस्ते को तैनात किया गया है।’ उन्होंने कहा कि और पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षित किया जा रहा है तथा वे भी इस पहले दस्ते में शामिल होंगे। इसी प्रकार से पाकिस्तानी रेंजरों ने सुरक्षा कारणों से गलियारे में तैनात किए गए अपने कर्मियों की संख्या को बढ़ा दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जनजातियों की कला-संस्कृति, परंपरा एवं रीति-रिवाज समृद्ध : द्रौपदी मुर्मू

रांची : झारखंड की राज्यपाल सह कुलाधिपति द्रौपदी मुर्मू ने शुक्रवार को कहा कि जनजातियों की कला, संस्कृति, लोक साहित्य, परंपरा एवं रीति-रिवाज समृद्ध रही आगे पढ़ें »

अत्यधिक प्रोटीन लेना हो सकता है जानलेवा: रिपोर्ट

नई दिल्ली : स्वस्थ रहने की बात हो तो सबसे पहले प्रोटीन लेने की सोचते हैं। प्रोटीन से मांसपेशियां मजबूत होती है और साथ ही आगे पढ़ें »

ऊपर